अपना शहर चुनें

States

रांची: बिजली विभाग ने 9 दिन में की 5 हजार घरों की बत्ती गुल, बड़े बकायादारों को दिया अल्टीमेटम

सांकेतिक फोटो.
सांकेतिक फोटो.

बकाया बिजली बिल वसूलने को लेकर जेयूवीएनएल (JUVNL) इन दिनों एक्शन में है. रांची (Ranchi) डिविजन में बकाया बिजली बिल 100 करोड़ रुपयों से ज्यादा है.

  • Share this:
रांची. बकाया बिजली बिल वसूलने को लेकर जेयूवीएनएल (JUVNL) इन दिनों एक्शन में है. रांची (Ranchi) डिविजन में बकाया बिजली बिल 100 करोड़ रुपयों से ज्यादा है. इसकी वसूली के लिये विभाग ने 100 से ज्यादा प्रतिष्ठानों को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के भीतर बिजली बिल भुगतान करने को कहा है. इसके अलावा विशेष अभियान के तहत पिछले 9 दिनों में 5 हजार बिजली कनेक्शन काटे गये हैं. अब विभाग बिजली बिल जमा नहीं करने वालों के खिलाफ यह कारवाई आगे भी जारी रखने की बात कह रहा है. विभाग ने बड़े बकायादारों की सूची बनाकर उन्हें चेतावनी भी दी है.

मिली जानकारी के मुतािबक, जो बड़े बकायेदार हैं, उनमें अकेले एचईसी पर करीब 90 करोड़ रुपयों का बकाया है. इसके अलावे कई थाना और बैंक सहित औद्योगिक प्रतिष्ठान शामिल हैं. रांची डिवीजन के विद्युत अधीक्षण अभियंता प्रभात कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि जेयूवीएनएल का लगातार घाटा बढ़ रहा है. बार बार नोटिस दिये जाने के बाबजूद कई प्रतिष्ठान बिल जमा करने में कोताही बरत रहे हैं, जिसके खिलाफ यह अभियान अभी चलेगा. रांची विद्युत आपूर्ति क्षेत्र की ओर से घर-घर जाकर कनेक्शन चेक करने के लिये स्पेशल टीम बनायी गयी है, जिसके द्वारा जनवरी के शुरूआती दिनों से कार्रवाई शुरू की गई.

महीनों से नहीं जमा कर रहे बिल
रांची विद्युत आपूर्ति क्षेत्र से प्राप्त आंकड़ों की मानें तो अब तक लगभग पांच हजार उपभोक्ताओं की बिजली कट गयी है. ये बकायेदार महीनों से बिजली बिल भुगतान नहीं कर रहे थे. आंकड़ों की मानें तो 11 जनवरी को 714, 12 जनवरी को 661, 13 जनवरी को 729, 15 जनवरी को 695, 16 जनवरी को 714, 18 जनवरी को 735 और 19 जनवरी को उपभोक्ताओं की बिजली काटी गई. इस तरह से कुल 4942 उपभोक्ताओं की बिजली कटी है. बिजली उपभोक्ताओं का कुल बकाया करोड़ों में है. रांची विद्युत आपूर्ति क्षेत्र के महाप्रबंधक पीके श्रीवास्तव की मानें तो इसके लिये 150 डिस्कनेकशन टीमें बनाई गई हैं. ये टीम तीन चार लोगों का समूह है. जिसमें अलग-अलग इलाके के जूनियर इंजीनियर, लाइनमैन आदि शामिल हैं. रांची विद्युत आपूर्ति क्षेत्र में रांची, खूंटी, गुमला, लोहरदगा और सिमडेगा शामिल है. इन पांच जिलों में दस डिवीजन शामिल है. जहां ये कार्रवाई हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज