रांची का हिंदपीढ़ी कंटेनमेंट जोन से मुक्त, पिछले 28 दिन से नहीं मिला कोरोना का कोई मरीज
Ranchi News in Hindi

रांची का हिंदपीढ़ी कंटेनमेंट जोन से मुक्त, पिछले 28 दिन से नहीं मिला कोरोना का कोई मरीज
रांची का हिंदपीढ़ी इलाका (फाइल फोटो)

हिन्दपीढ़ी (Hindpidhi) में आखिरी बार कोई मामला 28 दिन पहले सामने आया था. पूरे क्षेत्र में मेडिकल स्क्रीनिंग का काम भी पूरा कर लिया गया है. ऐसे संभावित लोग जिनमें कोरोना जैसे लक्षण पाए गए थे, उन सभी की रिपोर्ट भी निगेटिव पाई गई हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रांची. कोविड-19 (Covid-19) के प्रसार को रोकने के लिए कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) घोषित किए गए रांची के हिन्दपीढ़ी (Hindpidhi) को कंटेनमेंट क्षेत्र से मुक्त कर दिया गया है. इस संबंध में रविवार को उपायुक्त रांची की अध्यक्षता में जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई. इस बैठक में सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक हिन्दपीढ़ी के सभी क्षेत्रों को कंटेनमेंट क्षेत्र से मुक्त करने का फैसला लिया गया.

बैठक में हिन्दपीढ़ी को पूर्ण रूप से कंटेनमेंट क्षेत्र से मुक्त करने के संबंध में विभिन्न विषयों पर विचार विमर्श किया गया. इससे पहले 27 मई को हिन्दपीढ़ी के कई इलाकों को कंटेनमेंट जोन से मुक्त कर दिया गया था. रविवार को बचे हुए क्षेत्रों के बारे में फैसला लिया गया. सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक ऐसे क्षेत्र जहां 28 दिनों तक कोरोना का कोई भी मामला सामने नहीं आया हो, उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन से मुक्त कर दिया जाता है.

इलाके में 28 दिन से नहीं मिला कोरोना मरीज 



जिला आपदा प्रबंधन समिति के समक्ष पेश किए गए रिपोर्ट के मुताबिक हिन्दपीढ़ी के क्षेत्र में आखिरी बार कोई मामला 28 दिन पहले सामने आया था. इसके अतिरिक्त पूरे क्षेत्र में मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य भी पूरा कर लिया गया है. ऐसे संभावित लोग जिनमें कोरोना जैसे लक्षण पाए गए थे, उन सभी की रिपोर्ट भी निगेटिव पाई गई हैं. इसलिए 28 दिनों तक हिन्दपीढ़ी के वैसे क्षेत्र जो अभी तक कंटेनमेंट जोन के तहत सील क्षेत्र में मार्क्ड थे, उनमें कोई मामला देखने को नहीं मिला है. जिसके आधार पर बचे हुए पूरे क्षेत्र को भी अब सील एरिया से मुक्त किया जाता है.



बैठक के बाद रांची उपायुक्त राय महिमापत रे ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि हिन्दपीढ़ी को कंटेनमेंट जोन से मुक्त किए जाने के बाद लॉकडाउन के सभी नियम वहां शहर के अन्य हिस्सों की तरह ही लागू रहेंगे. कोई भी लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन न करें. इससे आप खुद की और दूसरों की सुरक्षा भी कर पाएंगे. सोशल डिस्टेन्सिंग का पूर्ण पालन सभी पब्लिक प्लेस पर लागू रहेगा.

हिंदपीढ़ी में ही मिला था राज्य का पहला कोरोना केस 

बता दें कि झारखंड का पहला कोरोना मरीज हिंदपीढ़ी में ही मिला था. धीरे-धीरे हिंदपीढ़ी कोरोना हॉटस्पॉट के रूप में उभरा. इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर पूरी तरह सील कर दिया था. नये फैसले के बाद रविवार रात इलाके में सारी बेरिकेडिंग को खोल दिये गये.

ये भी पढ़ें- Unlock 1.0: झारखंड में शुरू हो सकता है बस-ऑटो का परिचालन, कारोबारी गतिविधियां भी बढ़ेंगी

 
First published: June 1, 2020, 7:25 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading