रांची में महंगा मोबाइल उड़ाने वाला पहाड़ी गिरोह सक्रिय, चोरी कर बांग्लादेश में बेचते थे फोन!

तीन पहाड़ी गिरोह में बच्चों को भी जोड़ा जाता है, ताकि किसी को शक नहीं हो, और यदि पुलिस पकड़े भी तो बच्चे आसानी से छूट जाते हैं
तीन पहाड़ी गिरोह में बच्चों को भी जोड़ा जाता है, ताकि किसी को शक नहीं हो, और यदि पुलिस पकड़े भी तो बच्चे आसानी से छूट जाते हैं

पहाड़ी गिरोह के सदस्य साहेबगंज से रांची आकर बेहद शातिराना ढंग और सफाई से लोगों के जेब से उनका महंगा मोबाइल फोन उड़ा लेते हैं. चोरी के बाद वो उसे राज्य के दूसरे जिलों के साथ-साथ बांग्लादेश में भी सप्लाई करते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 6:07 PM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड की राजधानी रांची (Ranchi) के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि यहां तीन पहाड़ी गिरोह (Teen Pahadi Gang) ने अपनी दस्तक दे दी है. साहेबगंज जिले का यह गिरोह रांची के भीड़-भाड़ भरे इलाकों और तकरीबन हर हाट-बाजार में एक्टिव है. गिरोह के सदस्य मोबाइल फोन चोरी (Mobile Phone Theft) करने में माहिर हैं. लोगों से चुराए गए मोबाइल को यह गिरोह भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश (Bangladesh) में सप्लाई करता है.

पहाड़ी गिरोह के सदस्य बेहद शातिराना ढंग और सफाई से लोगों के जेब से उनका महंगा मोबाइल फोन उड़ा लेते हैं और उसे राज्य के दूसरे जिलों के साथ-साथ बांग्लादेश में भी सप्लाई करते हैं. बरियातू थाना क्षेत्र में पहाड़ी गिरोह के तीन सदस्यों की गिरफ्तारी से खुलासा हुआ. पुलिस की पूछताछ में उन्होंने बताया कि वो भीड़भाड़ वाले इलाके में घूमकर रेकी करते हैं और मौका देखकर पलक झपकते ही लोगों के महंगे मोबाइल पर हाथ साफ कर देते हैं. उन्होंने बताया कि गिरोह में बच्चों को भी जोड़ा जाता है, ताकि किसी को शक नहीं हो, और यदि पुलिस पकड़े भी तो बच्चे आसानी से छूट जाते हैं.

साइबर अपराधियो तक पहुंचता है चोरी का मोबाइल फोन
तीन पहाड़ी गिरोह पर्व-त्योहार के मौके पर जब खूब भीड़-भाड़ होती है तब लोगों को ज्यादा निशाना बनाता है. प्रत्येक वर्ष दुर्गा पूजा सहित अन्य त्योहार के मौके पर गिरोह के सदस्य साहिबगंज से रांची आते हैं और मोबाइल उड़ाने के बाद चकमा देकर फरार हो जाते हैं. इसके द्वारा चोरी की मोबाइल फोन को राज्य से बाहर भी सप्लाई की जाती है.
रांची के सिटी एसपी सौरभ ने बताया कि गिरोह के द्वारा चोरी की गई मोबाइल फोन अक्सर अपराधी तत्व के लोग इस्तेमाल करते हैं, चाहे वो साइबर अपराधी क्यों ना हो. उन्होंने कहा कि कई बार चोरी की गई मोबाइल फोन का लोकेशन बांग्लादेश सहित अन्य देशों से भी मिलता है.



पूर्व में तीन पहाड़ी गिरोह के सदस्य हुए हैं गिरफ्तार

रांची पुलिस के मुताबिक उसने समय-समय पर अभियान चलाकर तीन पहाड़ी गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है. लेकिन छूटने के बाद यह फिर इस अपराध में सक्रिय हो जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज