अपना शहर चुनें

States

रांची: झारखंड की बेटियों की बदौलत चिली में जूनियर भारतीय महिला हॉकी टीम को मिली जीत

सिमडेगा जिले के जंगलों और पहाड़ों से निकलकर चिल्ली तक में फतह करने वाली बेटियों को बहुत-बहुत बधाई.
सिमडेगा जिले के जंगलों और पहाड़ों से निकलकर चिल्ली तक में फतह करने वाली बेटियों को बहुत-बहुत बधाई.

इस प्रतियोगिता में भारतीय टीम (Indian Team) ने पांच जीत दर्ज की है, जिसमें झारखंड की खिलाड़ियों की अहम भूमिका रही है. प्रतियोगिता में कुल 16 गोल हुए हैं.

  • Share this:
रांची. झारखंड (Jharkhand) की बेटियों के गोल से जूनियर भारतीय टीम को सोमवार को पांचवीं जीत मिली. झारखंड की ब्यूटी डुंगडुंग (Beauty Dungdung) के गोल ने चिली सीनियर टीम को 2-1 से पराजित किया है. सेंटियागो चिली के  दौरे पर गई जूनियर भारतीय महिला टीम (Junior Indian Women Team) ने अपने छठे और आखिरी मैच में सीनियर चिल्ली टीम को 2-1 से पराजित कर प्रतियोगिता में पांचवीं जीत दर्ज की. मैच में सिमडेगा झारखंड की ब्यूटी डुंगडुंग ने दो गोल कर टीम को 2-1 से जीत दर्ज कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

इस प्रतियोगिता में भारतीय टीम ने पांच जीत दर्ज की है, जिसमें झारखंड की खिलाड़ियों की अहम भूमिका रही है. प्रतियोगिता में कुल 16 गोल हुए हैं, जिसमें झारखंड की बेटियों ने कुल 10 गोल किए. प्रतियोगिता में कुल 24 खिलाड़ियों का दल गया है जिसमें झारखंड के तीन खिलाड़ी सुषमा कुमारी, संगीता कुमारी और ब्यूटी डुंगडुंग है. प्रतियोगिता में ब्यूटी डुंगडुंग ने कुल 5 गोल, संगीता कुमारी ने कुल 4 गोल एवं सुषमा कुमारी ने एक गोल क दागा है. इस तरह प्रतियोगिता में कुल 16 में से 10 गोल झारखंड की बेटियों के नाम रहा जो अपने आप में बहुत बड़ी सफलता है. सिमडेगा जिले के जंगलों और पहाड़ों से निकलकर चिल्ली तक में फतह करने वाली बेटियों को बहुत-बहुत बधाई.





जो अपने आप में बहुत बड़ी सफलता है
कोरोना काल के विपरीत परिस्थिति में भी अपने आप को फिट रखते हुए इन बेटियों ने झारखंड का मान बढ़ाया है. covid-19 महामारी के कारण सभी खेल छात्रावास एवं खेल की गतिविधियां बंद हो गई थी. ये बेटियां भी इससे प्रभावित थीं और अपने घरों में कैद हो गए थीं. लेकिन ये निराश नहीं हुईं और अपने गांव के खेत- खलियान में खुद से अभ्यास कर अपने आप को फिट रखा. खास बात यह है कि 24 सदस्यों वाली जूनियर भारतीय महिला हॉकी टीम ने कुल 16 गोल किए हैं. उसमें झारखंड की सिर्फ तीन बेटियां सुषमा, संगीता ने कुल 10 गोल किए, जो अपने आप में बहुत बड़ी सफलता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज