जिद के आगे जीत है! रांची की लक्ष्मी शर्मा ने इसे सच कर दिखाया

चार साल पहले जब लक्ष्मी ने पावर लिफ्टिंग में करियर बनाने का फैसला लिया, तो बेटे को छोड़कर परिवार के किसी भी सदस्य ने उसका साथ नहीं दिया.

News18 Jharkhand
Updated: August 6, 2019, 3:54 PM IST
जिद के आगे जीत है! रांची की लक्ष्मी शर्मा ने इसे सच कर दिखाया
रांची की लक्ष्मी शर्मा ने अपने जुनून से पावर लिफ्टिंग में हासिल किया मुकाम
News18 Jharkhand
Updated: August 6, 2019, 3:54 PM IST
जब जिद जुनून बन जाए, तो हर मुकाम मुमकिन हो जाता है. इस कहावत को सच कर दिखाया है रांची की लक्ष्मी शर्मा ने. लक्ष्मी ने उम्र के उस पड़ाव में अपने सपने को पूरा करने की ठानी, जब लोग  अक्सर पारिवारिक जिम्मेदारियों में उलझकर इसे भूल जाते हैं. 40 साल की उम्र में लक्ष्मी ने पावर लिफ्टिंग को अपना मंजिल बनाया. और बीते चार सालों में उन्होंने चार बड़े खिताब अपने नाम कर लिये. वह नेशनल चैंपियन भी रह चुकी हैं. अब इंटरनेशनल प्रतियोगिता के लिए तैयारी कर रही हैं.

लक्ष्मी को सिर्फ बेटे का मिला साथ

लक्ष्मी शर्मा के दो बच्चे हैं. संयुक्त परिवार होने के चलते लक्ष्मी पर पति और बच्चों के साथ-साथ परिवार के अन्य सदस्यों की भी जिम्मेदारी है. लेकिन इन तमाम बंधनों के बावजूद लक्ष्मी नियमित जिम जाती हैं. अपनी मंजिल के लिए पसीना बहा रही हैं.

चार साल पहले जब लक्ष्मी ने पावर लिफ्टिंग में करियर बनाने का फैसला लिया, तो बेटे को छोड़कर परिवार के किसी भी सदस्य ने उसका साथ नहीं दिया. लेकिन अपने जुनून से लक्ष्मी ने सभी बाधाओं को पार करते हुए मुकाम हासिल करती चली गईं. इलाके के लोग अब उन्हें रांची की मेरी कॉम कहते हैं.

lakshmi sharma
इलाके के लोग लक्ष्मी को रांची की मेरी कॉम कहते हैं


दूसरी लड़कियों को दे रहीं ट्रेनिंग

पति का साथ नहीं मिलने के सवाल पर लक्ष्मी भावुक हो जाती हैं. लेकिन बेटे की खूब प्रशंसा करती हैं. बेटा अभी यूपीएससी की तैयारी कर रहा है. बेटी को मां के इस शौक से कुछ लेना- देना नहीं है. ससुराल के लोगों को भी यह सब पसंद नहीं है.
Loading...

लक्ष्मी शर्मा अब दूसरी लड़कियों को पावर लिफ्टिंग की प्रशिक्षण भी दे रही हैं. वह अच्छी ट्रेनर भी हैं. उनके लिए सुजाता भगत प्रेरणा स्रोत रही हैं.

सुजाता भगत कहती हैं कि लक्ष्मी के पास जुनून है. वह पावर लिफ्टिंग में लगातार आगे बढ़ रही हैं. यह सब खुद पर भरोसे का नतीजा है.

रिपोर्ट- राजेश कुमार

ये भी पढ़ें- रांची का रानी कुआं: जिसने भी इसके पानी को जूठा किया, वो हो गया अपंग

सिर्फ 15 दिन तक मुंहबोले भाई ने नाबालिग को बहन समझा, उसके बाद करने लगा दुष्कर्म

 

 
First published: August 6, 2019, 3:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...