Home /News /jharkhand /

नगर निगम की दो टूक, गड़बड़ी मिलने पर निर्माण कार्य पर लगेगी रोक

नगर निगम की दो टूक, गड़बड़ी मिलने पर निर्माण कार्य पर लगेगी रोक

रांची नगर निगम ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों पर लगाम लगाना शुरू कर दिया है. इसके तहत नगर आयुक्त प्रशांत कुमार ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों के साथ बैठक की.

रांची नगर निगम ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों पर लगाम लगाना शुरू कर दिया है. इसके तहत नगर आयुक्त प्रशांत कुमार ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों के साथ बैठक की.

रांची नगर निगम ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों पर लगाम लगाना शुरू कर दिया है. इसके तहत नगर आयुक्त प्रशांत कुमार ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों के साथ बैठक की.

रांची नगर निगम ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों पर लगाम लगाना शुरू कर दिया है. इसके तहत नगर आयुक्त प्रशांत कुमार ने बिल्डरों और आर्किटेक्टों के साथ बैठक की.

नगर आयुक्त ने कड़े शब्दों में निर्देश दिए कि भवनों का प्लिंथ लेवल पर जांच होगी. अगर कोई गड़बड़ी पाई जाती है तो उसमें शुरुआती दौर में ही सुधार किया जाएगा. प्लिंथ लेवल पर निर्माण कार्य की जानकारी नगर निगम को देनी होगी.

इसके बाद निगम के अभियंता भवन की जांच करेंगे. इस दौरान पाया जाता है कि भवन का निर्माण नक्शा के अनुरूप है तो आगे निर्माण का आदेश दिया जाएगा, नहीं तो निर्माण कार्य रोकना पड़ेगा.

नगर आयुक्त ने कहा कि रांची शहर में जिस तरह बेतरतीब तरीके से भवनों का निर्माण हो रहा है उसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश की जाएगी. इतना ही नहीं, भवन अगर नक्शा के अनुरूप नहीं बनेगा तो इसकी जानकारी आर्किटेक्ट ही निगम को देंगे.

आर्किटेक्टों के साथ बैठक में नगर आयुक्त ने कहा कि तीन आक्यूपेंसी सर्टिफिकेट लेने के बाद ही एक नक्शा पास किया जाएगा. जाहिर है नगर निगम आक्यूपेंसी सर्टिफिकेट को लेकर पहले से ज्यादा गंभीर है.

बैठक में नगर आयुक्त ने जोर देकर कहा कि अब से छोटे-बड़े सभी भवनों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग को जरूरी कर दिया गया है. लिहाजा, सभी बिल्डर के लिए जरूरी होगा कि निर्माण कार्य के दौरान इसकी रूपरेखा बना लें.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर