मानसून की पहली बारिश ने बिगाड़ी राजधानी की सूरत, सड़कों पर बहा नालियों का गंदा पानी
Ranchi News in Hindi

उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय ने बताया कि रांची में जिस तरह से नालियों और नदियों का अतिक्रमण हुआ है, उसका हर्जाना राजधानी रांची भुगत रही है

  • Share this:
मानसून की पहली बारिश ने ही निगम की तैयारियों की कलई खोल दी है. रांची की सड़कों पर बहता पानी निगम के खोखले दावों की हकीकत बयां कर रहा है. निगम ने जिस तरह की तैयारियों का लेखा-जोखा रखा था, वह पूरी तरह ध्वस्त हो गया. उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय ने बताया कि रांची में जिस तरह से नालियों और नदियों का अतिक्रमण हुआ है, उसका हर्जाना राजधानी रांची भुगत रही है. उपमहापौर ने कहा कि रांची नगर निगम अब उन अतिक्रमित हुई नालियों और नदियों की सूची बना रहा है. जिसे जल्द ही अतिक्रमण मुक्त कर लिया जाएगा. उन्होंने आश्वासन दिया कि अगले वर्ष निगम जल जमाव से पूरी तरह निजात पा सकेगा.

नगर निगम चला रहा जागरूकता अभियान

मानसून के दौरान जलजमाव के साथ ही मच्छरों के आतंक भी बढ़ जाते है. इसके चलते रांचीवासियों ने पिछले वर्ष डेंगू और चिकनगुनिया की महामारी झेली थी. निगम इस बार मच्छरों के आतंक को खत्म करने को लेकर तमाम कवायदें करता नजर आ रहा है. जल जमाव से होने वाली परेशानियों को लेकर निगम हर मोहल्ले में जागरुकता अभियान चला रहा है. इसके साथ ही सभी घरों में लार्वीसाइडल का छिड़काव भी करा रही है. बता दें कि बरसात में ईंधन युक्त फॉगिंग का इस्तेमाल बंद किया गया है. वहीं कोल्ड फॉगिंग मशीन के सहारे निगम क्षेत्र में फॉगिंग की जा रही है.



कोल्ड फॉगिंग मशीन के सहारे हो रहा लार्वीसाइडल का छिड़काव
निगम के स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि नाले में जहां सफाईकर्मी लार्वीसाइडल का छिड़काव नहीं कर पाते थे, अब वहां भी कोल्ड फॉगिंग मशीन के सहारे लार्वीसाइडल का छिड़काव किया जा रहा है. बहरहाल मानसून में रांची की स्थिति पहले से बेहतर नजर आ रही है, लेकिन निगम भी ये मान रहा है ये तो शुरुआत है आने वाले दिनों में अगर मानसून अच्छी होती है तो स्थिति इसके उलट भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें - बीजेपी की रणनीति को लेकर नीरा यादव और सरयू राय आमने-सामने

ये भी पढ़ें - बीजेपी ने हर विधानसभा में 50,000 सदस्य बनाने का रखा लक्ष्य
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading