Ranchi News: बर्थडे के दिन कमरे में फंदे से झूलता मिला छात्र, 3 अन्‍य ने भी की आत्‍महत्‍या

घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. (सांकेतिक फोटो)

घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. (सांकेतिक फोटो)

Jharkhand News: आत्‍महत्‍या की चार अलग-अलग घटनाएं सामने आई हैं. पुलिस ने इन मामलों में केस दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है.

  • Share this:
रांची. झारखंड की राजधानी रांची (Ranchi) के सदर थाना क्षेत्र में एक पुलिसकर्मी और छात्र ने फंदे से लटक कर आत्महत्या (Suicide) कर ली. वहीं, लालपुर में रहने वाले एक व्यक्ति ने भी फांसी लगाकर जान दे दी. इसी तरह ओरमांझी थाना क्षेत्र में भी पेट्रोल पम्पकर्मी ने जहर खाकर जान दे दी. सभी मामलों में मानसिक अवसाद और डिप्रेशन (Depression) की बात सामने आ रही है. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

रांची के सदर थाना क्षेत्र के सरना टोली में एक छात्र ने फंदे से झूलकर आत्महत्या कर ली. छात्र का नाम आयुष मुंडा है. वह कोकर बाजार स्थित सरकारी स्कूल का छात्र था. वह नवोदय विद्यालय में दाखिला के लिए तैयारी भी कर रहा था. गुरुवार को उसका जन्मदिन था. जन्मदिन के मौके पर सुबह उसकी मां कमरे में जन्मदिन की शुभकामना देने गई. दरवाजा खुलवाने की कोशिश की तो वह नहीं खुला. इसके बाद उन्‍होंने खिड़की से झांक कर देखा तो आयुष फंदे से झूलता हुआ नजर आया. इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई. मामले में यूडी केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है. जानकारी के अनुसार, आयुष बुधवार की शाम ट्यूशन पढ़ा था. ट्यूशन के बाद खाना खाया. इसके बाद कमरे में चला गया. इसके बाद से ही कमरा बंद था. आयुष तीन भाइयों में बड़ा था. पिता बिजली विभाग में कार्यरत हैं. वह सिकिदिरी में पोस्टेड हैं.

पुलिसकर्मी ने की आत्‍महत्‍या

रांची जिला बल में पोस्टेड पुलिस के जवान ने फंदे से झूलकर आत्महत्या कर ली. जवान का नाम मार्टिन हेंब्रम है. वह साल 2011 बैच के सिपाही थे. मूल रूप से खूंटी जिले के तोरपा थाना क्षेत्र के कस्मार गांव के रहने वाले थे. जवान सदर थाना क्षेत्र के चूना भट्ठा में किराए के मकान में रहता था. जवान मार्टिन हेंब्रम महाधिवक्ता झारखंड की सुरक्षा में प्रतिनियुक्त थे, लेकिन वह अपनी ड्यूटी से फरार हो गए थे. इसकी शिकायत महाधिवक्ता कार्यालय से की गई थी. शिकायत पर उनके वेतन पर रोक लगा दी गई थी. जिसके बाद 15 मार्च को वह घर छोड़कर गायब हो गए थे. इसे लेकर सदर थाने में पत्नी द्वारा गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. मोबाइल लोकेशन के आधार पर उन्‍हें लापुंग इलाके से 8 दिन बाद 21 मार्च को बरामद किया. बाद में उन्‍होंने फंदे से झूलकर अपनी जीवन लीला खत्म कर ली. पारिवारिक विवाद को आत्महत्या करने की बात कही जा रही है.
लालपुर और ओरमांझी में भी आत्महत्या

वहीं, लालपुर थाना क्षेत्र में भी पेशे से चालक ने भी फंदे से लटक कर गुरुवार की शाम आत्महत्या कर ली. ओरमांझी थाना क्षेत्र में भी पेट्रोल पम्प कर्मी में डिप्रेशन के कारण आत्महत्या की जिसकी जांच भी पुलिस कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज