Ranchi News: महेंद्र सिंह धोनी ने खरीदा महंगे नस्‍ल का घोड़ा, स्कॉटलैंड से पहुंचा रांची, जानें खूबी

घोड़े के साथ खेलती धोनी की बेटी.

घोड़े के साथ खेलती धोनी की बेटी.

Mahendra Singh Dhoni Bought Horse: महेंद्र सिंह धोनी ने स्‍कॉटलैंड से शेटलैंड पोनी नस्‍ल का यह घोड़ा खरीदा है. यह दुनिया के सबसे छोटे नस्लों में से एक है. इसकी ऊंचाई महज 3 फीट के करीब होती है.

  • Share this:

रांची. महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के फार्म हाउस में मौजूद चेतक का साथ देने के लिए एक दूसरा घोड़ा भी आ चुका है. शेटलैंड पोनी नस्ल का यह घोड़ा बुधवार को स्कॉटलैंड (Scotland) से रांची आया. इसके बाद यह घोड़ा धोनी के सिमलिया स्थित आवास पर पहुंचा. करीब 2 साल की उम्र का यह घोड़ा दुनिया के सबसे छोटे नस्लों में से एक है. इसकी ऊंचाई महज 3 फीट के करीब होती है. यह घोड़ा अपनी तेज गति के लिए नहीं, बल्कि महज सजावट और शो के लिए जाना जाता है. इसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में काफी ज्‍यादा है.

यह घोड़ा धोनी के सिमलिया स्थित आवास पर है, जहां धोनी की बेटी जीवा उसके साथ काफी टाइम बिता रही है. दूसरा घोड़ा चेतक धोनी के सैंबो स्थित फार्म हाउस में है. वहीं, कुछ दिन पहले धोनी की पत्नी साक्षी धोनी भी सैंबो स्थित फार्म हाउस पहुंची थीं, जहां वह गौशाला में गायों को चारा खिलाती भी नजर आईं. आपको बता दें कि धोनी और उनके पूरे परिवार को पालतू जानवरों से काफी प्यार है और अक्सर इंस्टाग्राम पर तस्वीरें भी शेयर करते रहते हैं.

शेटलैंड पोनी नस्‍ल के घोड़े की अलग है पहचान

दरअसल, फार्म हाउस में आया सबसे पहला घोड़ा चेतक अभी 11 महीने का है और वह मारवाड़ी नस्ल का है. देखने में काला चेतक अपनी तेज चाल के लिए जाना जाता है. बुधवार को सिमलिया आवास पर पहुंचा दूसरा घोड़ा चेतक से बिल्कुल अलग नस्ल का है. शेटलैंड पोनी नस्ल का घोड़ा सफेद रंग का है. इसे घोड़ों में सबसे कम ऊंचाई का होता है. इस नस्ल के घोड़े अपनी चाल के लिए नहीं, बल्कि अपनी खुशी और सजावट के लिए जाने जाते हैं.
धोनी ने लाखों रुपये किए खर्च

बताया जा रहा है कि घोड़ों के शौकीन महेंद्र सिंह धोनी ने स्कॉटलैंड के इस घोड़े पर लाखों रुपये खर्च किए हैं. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस बेहद खूबसूरत इस घोड़े की कीमत काफी ऊंची है. आपको बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी के रांची स्थित सैंबो फार्म हाउस में हॉर्स राइडिंग की तैयारियां जोरों पर है. इसके लिए 5 से 6 घोड़े बाहर से मंगाए जाने हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज