Ranchi News: होली पर पर पनीर और खोया खरीद रहे हैं तो हो जाएं सावधान! जानें पूरा मामला

राजधानी रांची में मिलावटी पनीर एवं खोवे की आपूर्ति बड़े पैमाने पर त्योहारों की सीजन में की जाती है.

राजधानी रांची में मिलावटी पनीर एवं खोवे की आपूर्ति बड़े पैमाने पर त्योहारों की सीजन में की जाती है.

Jharkhand News: होली जैसे त्‍योहार के मौके पर मिलावटखोर सक्रिय हो जाते हैं. प्रशासनिक लापरवाही के कारण बाजार में मिलावटी पनीर और खोया की बिक्री धड़ल्‍ले से की जाती है.

  • Share this:
रांची. त्योहारों के मौके पर दूध की मांग अधिक होने के कारण सिंथेटिक दूध (Synthetic Milk) से तैयार पनीर रांची सहित आसपास में बसों के जरिए पहुंचना शुरू हो चुका है. बसों की छत पर कैरेट, तेल के टीन, कार्टून और बोरे में पैक पनीर बिहार से रांची पहुंच रहे हैं, जिसे अंधरे में ही टेंपो एवं वाहनों से शहर के विभिन्न क्षेत्रों के होटलों में पहुंचाया जा रहा है. आरोप है कि प्रशासन इन बसों की जांच नहीं करता है. बस के कंडक्टर ने बताया कि हमलोगों को नहीं मालूम रहता है कि पनीर असली है या नकली. बख्तियारपुर से गाड़ी में लोड किया जाता है और इसे रांची में उतारा जाता है.

राजधानी रांची में मिलावटी पनीर एवं खोए की आपूर्ति बड़े पैमाने पर त्योहारों के सीजन में की जाती है. ये पनीर बिहारशरीफ से हर दिन बसों से लाया जाता है. पनीर की आपूर्ति शहर की कई दुकानों में की जाती है. स्पंजी पनीर को दुकानों में धोकर बिक्री करने का धंधा वर्षों से चल रहा है. नकली पनीर की खेप सुबह 5 बजे बिहारशरीफ से रांची पहुंच जाता है. वहीं, अरगोड़ा चौक पर होली स्वीट्स के मालिक स्वप्न घोष ने बताया होली के मौके पर बाजारों में रौनकता तो थोड़ी बढ़ी है, लेकिन बिक्री में इज़ाफ़ा नहीं है. हमारे दुकान में जितना भी सामान है वह हमारे अपने डेयरी के दूध से बने हैं.

होली के मौके पर मिलावट की आशंका

होली के मौके पर मिठाई और दूध से बने पदार्थों की मांग बढ़ जाती है. आपूर्ति की कमी की वजह से कई दफा खाद्य पदार्थ विक्रेताओं या मिठाई विक्रेता मिलावटी या नकली पदार्थों की बिक्री करने लगते हैं. जिला प्रशासन ऐसे में कितना सतर्क है यह देखना होगा. आमजनों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ और दोषियों पर शिकंजा कसने की क्या है तैयारी है, यह तो आने वाला समय ही बताएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज