झारखंड सरकार ने वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन खोला खजाना, रात 11 बजे तक होगा भुगतान 

हेमंत सरकार अल्पसंख्यकों के लिए आवासीय विद्यालय खोलेगी (फाइल फोटो)

हेमंत सरकार अल्पसंख्यकों के लिए आवासीय विद्यालय खोलेगी (फाइल फोटो)

कोषागार (Treasury) में मार्च क्लोजिंग के दिन होने वाले भीड़ को देखते हुए झारखंड सरकार (Jharkhand Government) ने ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों बिल जमा करने की व्यवस्था की है, जिसके कारण ट्रेजरी के बाहर लगने वाली भीड़ इस बार नहीं दिख रही है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 7:34 PM IST
  • Share this:
रांची. वित्तीय वर्ष 2020-21 के अंतिम दिन यानी 31 मार्च को झारखंड सरकार (Jharkhand Government) ने खजाना खोलकर रख दिया है. वित्त विभाग (Finance Department) के निर्देशों के मुताबिक राज्य भर के सभी ट्रेजरी में बुधवार दोपहर तीन बजे तक प्राप्त विपत्र यानी बिल का भुगतान हो सकेगा. साथ ही सभी कोषागार और संबंधित बैंकों को रात 12 बजे तक खोलने के निर्देश दिए गए हैं. कोषागार (Treasury) में मार्च क्लोजिंग के दिन होने वाले भीड़ को देखते हुए राज्य सरकार ने ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों बिल जमा करने की व्यवस्था की है, जिसके कारण ट्रेजरी के बाहर लगने वाली भीड़ इस बार नहीं दिख रही है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के दिश-निर्देेश के मुताबिक बिल का भुगतान रात 11 बजे तक ही हो सकेगा. इधर, दोपहर दो बजे तक राजधानी रांची के समाहरणालय स्थित जिला कोषागार में बिल जमा होने की रफ्तार धीमी रही. तीन बजे तक आने वाले विपत्र की जांच करने के बाद देर शाम तक भुगतान हो जायेगा. विपत्रों की संख्या कम होने का कारण इस महीने लंबित बिल का भुगतान होना है. पिछले वर्ष मार्च महीने में अकेले रांची जिला कोषागार से 6,400 बिल जमा हुए थे. इस वर्ष यह आंकड़ा कुछ दिन पहले ही पार कर चुका है.

हालांकि कोरोना संक्रमण के कारण इस वित्तीय वर्ष में बजटीय प्रावधान के बाबजूद शुरुआती दौर में कई प्रतिबंधों के साथ निकासी की अनुमति दी गई थी, लेकिन कुछ महीनों से स्थितियां जैसे-जैसे सामान्य होने लगी, वित्त विभाग द्वारा पाबंदियों पर लगी रोक को हटाया जाने लगा. ऐसे में जिस रफ्तार से विकास योजनाओं पर राशि खर्च होनी चाहिए थी, वो नहीं हो पाया. ऐसे में यह संभावना जताई जा रही है कि एक बार फिर भारी भरकम राशि सरेंडर होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज