Home /News /jharkhand /

झारखंड: मालिक को हुआ कोरोना तो ड्राइवर 26 लाख रुपये लेकर हो गया रफू-चक्कर

झारखंड: मालिक को हुआ कोरोना तो ड्राइवर 26 लाख रुपये लेकर हो गया रफू-चक्कर

Ranchi News: मालिक के घर 26 लाख की बड़ी चोरी को अंजाम देने के बाद अनिल ऐसो आराम की जिंदगी जी रहा था. चोरी के पैसे से उसने एलईडी टीवी, लैपटॉप, महंगे कपड़े, घड़ी, सोफा खरीदा. उसकी गिरफ्तारी के बाद रांची के धुर्वा इलाके से करीब पुलिस ने एक ट्रक सामान बरामद किया, जो चोरी के पैसे से खरीदे गये थे. आरोपी के पास से 10 लाख रुपये नकद भी बरामद किये गये.

Ranchi News: मालिक के घर 26 लाख की बड़ी चोरी को अंजाम देने के बाद अनिल ऐसो आराम की जिंदगी जी रहा था. चोरी के पैसे से उसने एलईडी टीवी, लैपटॉप, महंगे कपड़े, घड़ी, सोफा खरीदा. उसकी गिरफ्तारी के बाद रांची के धुर्वा इलाके से करीब पुलिस ने एक ट्रक सामान बरामद किया, जो चोरी के पैसे से खरीदे गये थे. आरोपी के पास से 10 लाख रुपये नकद भी बरामद किये गये.

Ranchi News: मालिक के घर 26 लाख की बड़ी चोरी को अंजाम देने के बाद अनिल ऐसो आराम की जिंदगी जी रहा था. चोरी के पैसे से उसने एलईडी टीवी, लैपटॉप, महंगे कपड़े, घड़ी, सोफा खरीदा. उसकी गिरफ्तारी के बाद रांची के धुर्वा इलाके से करीब पुलिस ने एक ट्रक सामान बरामद किया, जो चोरी के पैसे से खरीदे गये थे. आरोपी के पास से 10 लाख रुपये नकद भी बरामद किये गये.

अधिक पढ़ें ...

    रांची. रांची पुलिस ने बड़ी चोरी की वारदात का उद्भेदन करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी ने अपने ही मालिक में 26 लाख रुपए की चोरी को उस वक्त अंजाम दिया जब मालिक कोविड से पीड़ित था. फरार ड्राइवर को छत्तीसगढ़ के रायपुर से गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार आरोपी अनिल भगत के पास से पुलिस ने 10 लाख रुपये नगद और चोरी के पैसे से खरीदे गए महंगे सामान बरामद किए.

    चोरी की वारदात के बाद से ही गोंदा पुलिस लगातार इस मामले के अनुसंधान में जुटी हुई थी. इसी दौरान गोंदा थाना प्रभारी अवधेश ठाकुर को जानकारी मिली कि आरोपी अनिल भगत छत्तीसगढ़ के रायपुर में अपनी प्रेमिका के साथ रह रहा है. जिसके बाद मामले में टेक्निकल टीम की मदद से पुलिस की टीम ने रायपुर में छापेमारी की और अनिल भगत को धर दबोचा. अनिल के पास से पुलिस ने चोरी के 26 लाख में से 10 लाख रुपए बरामद किए. आरोपी ने अधिकांश पैसे घूमने-फिरने और खरीदारी करने में उड़ा दिए.

    मालिक के घर 26 लाख की बड़ी चोरी को अंजाम देने के बाद अनिल ऐसो आराम की जिंदगी जी रहा था. चोरी के पैसे से उसने एलईडी टीवी, लैपटॉप, महंगे कपड़े, घड़ी, सोफा खरीदा. उसकी गिरफ्तारी के बाद रांची के धुर्वा इलाके से करीब पुलिस ने एक ट्रक सामान बरामद किया, जो चोरी के पैसे से खरीदे गये थे.

    गोंदा थानाप्रभारी अवधेश ठाकुर ने बताया कि चोरी करने के बाद अनिल उसी पैसे से मुंबई -दिल्ली जैसे शहर घूमता रहा. इस दौरान उसने लगभग पूरे देश का भ्रमण किया. जब काफी कम पैसे बच गए, तब अनिल छत्तीसगढ़ में ही कोई काम खोज रहा था. ताकि वहीं पर रह कर पुलिस की नजरों से बच सके, लेकिन टेक्निकल सेल की मदद से उसे धर दबोचा गया.

    गोंदा थाना इलाके के कांके रोड स्थित एक अपार्टमेंट में रहने वाले कारोबारी रविंद्र कुमार टिबड़ेवाल के घर से 26 लाख रुपए की चोरी को अंजाम दिया गया था. व्यवसाई कांके रोड स्थित ब्लेसिंगटन हाइट में दसवें तल्ले पर अकेले रहते थे. 24 अप्रैल को वे कोरोना से गंभीर रूप से संक्रमित हो गए थे. जिसके बाद उन्हें सेंटेविटा अस्पताल में भर्ती कराया गया. करीब एक महीने तक अस्पताल में भर्ती रहे. इस दौरान ग्राहकों और डीलरों से कलेक्शन के पैसे उनके पास बीमार होने के दौरान भी आ रहे थे. जिसे उस वक्त वे बैंक में जमा नहीं करवा सके. फ्लैट में ही आलमीरा में पैसा रखा. उसी अपार्टमेंट के चौथे तल्ले में दूसरे फ्लैट में उनकी पत्नी और बच्चे रहते हैं. जब उनकी तबीयत में सुधार आया तो 18 जून को वे दोबारा अपने दसवें तल्ले के फ्लैट में गए. आलमीरा खोला तो देखा कि उसमें रखे पैसे गायब थे. जब इस मामले की जांच की तो पता चला कि उनके चालक अनिल ने नौकरी छोड़ दी है. उससे संपर्क करने का प्रयास भी किया, लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया. इसके बाद उन्होंने गोंदा थाना पहुंचकर आरोपी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

    Tags: Jharkhand news, Ranchi news, Theft Cases

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर