एनी डेस्क ऐप के जरिये उड़ाये 25 हजार रुपये, दो साइबर अपराधी गिरफ्तार

साइबर अपराधियों ने फर्जी बैंक अधिकारी बनकर फोन किया. इस दौरान बैंक का केवाइसी अपडेट करने की बात कह एनी डेस्क ऐप डाउनलोड करने को कहा. ऐप डाउनलोड होते ही खाते से 25 हजार रुपये उड़ा लिये.

News18 Jharkhand
Updated: July 3, 2019, 3:47 PM IST
एनी डेस्क ऐप के जरिये उड़ाये 25 हजार रुपये, दो साइबर अपराधी गिरफ्तार
साइबर अपराधियों ने फर्जी बैंक अधिकारी बनकर फोन किया. इस दौरान बैंक का केवाइसी अपडेट करने की बात कह एनी डेस्क ऐप डाउनलोड करने को कहा. ऐप डाउनलोड होते ही खाते से 25 हजार रुपये उड़ा लिये.
News18 Jharkhand
Updated: July 3, 2019, 3:47 PM IST
रांची पुलिस ने अंतरराज्यीय साइबर अपराध गिरोह का खुलासा किया. पुलिस ने जामताड़ा से दो साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया. इनके पास से पेटीएम कार्ड, सिम कार्ड, मोबाइल और नकदी बरामद किये गये. एनी डेस्क ऐप के जरिये गिरफ्तार अपराधियों ने 25 हजार रुपये ठग लिये थे.

एनी डेस्क ऐप के जरिये उड़ाये रुपये 

रांची के कांके रोड निवासी और व्यवसाई सत्येंद्र किशोर को साइबर अपराधियों ने फर्जी बैंक अधिकारी बनकर फोन किया. इस दौरान बैंक का केवाइसी अपडेट करने की बात कह उनसे एनी डेस्क ऐप डाउनलोड करने को कहा. ऐप डाउनलोड होने के बाद उनके खाते से 25 हजार रुपये उड़ा लिए गये.

एसआईटी ने अपराधियों को दबोचा 

रांची एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि 25 हज़ार रुपये की ठगी के इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एसआईटी का गठन किया गया. टीम ने छापेमारी कर जामताड़ा निवासी विवेक कुमार मंडल और देवघर निवासी आमिर खुसरो को गिरफ्तार किया. इनके पास से 20 पेटीएम कार्ड, 20 फर्जी सिम, 5 मोबाइल और नगद 15 हजार रुपए बरामद किये गये.

संदिग्ध कॉल की सूचना पुलिस को दें 

एसएसपी ने शहरवासियों को आगाह किया कि अगर कोई संदिग्ध कॉल आता है, तो  तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दें. अपना एटीएम नंबर किसी के साथ बेवजह साझा ना करें.
Loading...

रिपोर्ट- ओमप्रकाश

ये भी पढ़ें- डायन बताकर निकाला था, दो साल बाद गांव लौटा तो कर दी हत्या 

हाथी के हमले में मां-मासूम की मौत, पति और दो बच्चे बाल-बाल बचे 

 
First published: July 3, 2019, 3:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...