• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • RANCHI RANCHI RESIDENT DR MD SIRAJUDDIN DIED DUE TO CORONA IN RIMS JUNIOR DOCTOR ERUPTED NODAA

रांची : कोरोना से रिम्स के रेजीडेंट डॉ. मो. सिराजुद्दीन की मौत के बाद भड़के जूनियर डॉक्टर

कोरोना से डॉ. सिराजुद्दीन की मौत के बाद जूनियर डॉक्टर भड़के.

नाराज जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन ने सीएण हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के सामने कई मांगें रखकर 72 घंटे के भीतर पूरी करने को कहा है. मांगों पर अमल नहीं होने पर विरोध करने की चेतावनी दी है.

  • Share this:
रांची. झारखंड की राजधानी रांची के रिम्स के DTMH रेजिडेंट डॉ. मो. सिराजुद्दीन की कोरोना से मौत से सूबे के सबसे बड़े अस्पताल में मातम और आक्रोश दोनों नजर आ रहे हैं. सोमवार अहले सुबह डॉक्टर सिराजुद्दीन की मौत के बाद जूनियर डॉक्टर्स में खासी नाराजगी देखी गई. हालात से नाराज जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के सामने अपनी मांगें रखकर 72 घंटे के भीतर पूरी करने को कहा है. मांगों पर अमल नहीं होने पर एसोसिएशन ने विरोध करने की चेतावनी दी है.

आपको बता दें कि राज्य भर में कोरोना की दूसरी लहर के बाद रिम्स पर इलाज का काफी दबाव बढ़ा है. जिस वजह से डॉक्टर्स और स्वास्थ्यकर्मियों को लगातार ड्यूटी करनी पड़ रही है और वह भी लगातार संक्रमण का शिकार हो रहे हैं.

जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन की मांगें

* फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मियों की मौत पर परिजनों को उचित मुआवजा मिले

* कोरोना संक्रमित स्वास्थ्यकर्मी के इलाज का खर्च स्वास्थ्य बीमा के द्वारा झारखंड सरकार वहन करे

* सुप्रीम कोर्ट और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देशों के मुताबिक कोरोना ड्यूटी पर काम कर रहे चिकित्सकों से सप्ताह में अधिकतम 48 घंटे ही काम कराया जाए. साथ ही साथ कोरोना ड्यूटी के बाद उनको समुचित क्वॉरंटाइन दिया जाए

* अभी तक 40-50% चिकित्सक और उनका परिवार कोरोना का इलाज करते हुए संक्रमित हो चुके हैं. उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है. इसलिए चिकित्सकों की बकाया राशि (एरियर और प्रोत्साहन राशि) का जल्द भुगतान किया जाए

* महामारी की स्थिति को देखते हुए आरएमएस में ECMO मशीन की यथाशीघ्र व्यवस्था की जाए