Ranchi News: मॉब लिंचिंग केस में थाने के 3 अधिकारियों पर गिरी गाज, रांची SSP ने किया सस्पेंड

ट्रक चोरी के आरोप में रांची में एक युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई.

ट्रक चोरी के आरोप में रांची में एक युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई.

Mob Lynching in Ranchi: ट्रक चोरी के आरोप के चलते मॉब लिंचिंग शिकार बने मृतक सचिन वर्मा का पोस्टमार्टम पुलिस ने मेडिकल बोर्ड की देखरेख में रिम्स में करवाया है, वहीं पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई है. इस सिलसिले में 40 लोगों पर केस दर्ज किया गया है.

  • Share this:
रांची. दो दिन पहले एक ट्रक चोरी के आरोप में शक के घेरे में आए सचिन वर्मा नामक युवक की भीड़ द्वारा पीट-पीट कर मार डालने मामले (Mob Lynching) के मामले में रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने कार्रवाई करते हुए कोतवाली थाने के दरोगा सहित दो जमादारों को निलंबित कर दिया है. मामले की जांच की जिम्मेवारी सिटी एसपी सौरव को दी गई है. एसएसपी ने देर रात कार्रवाई करते हुए कोतवाली थाने के दरोगा वैभव सिंह, जमादार विजय शंकर सिंह और जमादार विश्राम तिग्गा को निलंबित कर दिया है. मामले की निष्पक्ष हो, इसके लिए केस का आईओ दूसरे थाने के इंस्पेक्टर को बनाया गया है.

रांची के सीनियर एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि सिटी एसपी सौरभ को मामले की जांच की जिम्मेवारी दी गई है. इस मामले में जो भी दोषी होंगे उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा.

कैसे हुई थी मॉब लिंचिंग की घटना

जानकारी के अनुसार मृतक का नाम सचिन था, जो नवाटोली भुताहा तालाब के पास का रहने वाला था. बताया जा रहा है कि अपर बाज़ार में एक 407 ट्रक रात में खड़ा था, जिसकी चोरी हो गई, जिसके बाद चोरी के इस मामले में सचिन का नाम सामने आया. जिससे आक्रोशित होकर अपर बाज़ार में रहने वाले मोटिया मजदूरों ने कानून को अपने हाथों में लिया और सचिन की रात में बांध कर जमकर पिटाई की. मामले की जानकारी मिलने के बाद सचिन को बचाया गया और इलाज के अस्पताल भेज गया. लेकिन चोट इतनी गहरी थी कि सचिन ने सोमवार की सुबह दम तोड़ दिया.
40 लोगों के खिलाफ एफआईआर

घटना की गंभीरता को देखते हुए मृतक सचिन वर्मा का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड की देखरेख में रिम्स में करवाया गया, वहीं पोस्टमार्टम के दौरान उसकी वीडियोग्राफी भी की गई. गौरतलब है कि कोतवाली थानाक्षेत्र के अपर बाजार इलाके में चोरी के आरोप में सचिन नामक युवक की पीट-पीट कर सोमवार को हत्या कर दी गई थी. मामले में सचिन की मां के बयान पर 40 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 4 आरोपियों को धर दबोचा है. बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज