हाईकोर्ट जाएंगी ऋचा पटेल, बोलीं- मेरे लिए जैसे गीता वैसे कुरान...पर सजा मंजूर नहीं

न्यूज-18 झारखंड के लाइव शो में ऋचा ने कहा,'बिना जांच के मेरे ऊपर कार्रवाई की गई, मुझे जेल भेज दिया गया. कोर्ट के फैसले का विरोध इसलिए कर रही हूं, क्योंकि यह मुझे सजा के तौर पर सुनाई गई है. कुरान का विरोध नहीं कर रही हूं. मेरे लिए जैसे गीता वैसे कुरान.'

Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: July 17, 2019, 6:48 PM IST
हाईकोर्ट जाएंगी ऋचा पटेल, बोलीं- मेरे लिए जैसे गीता वैसे कुरान...पर सजा मंजूर नहीं
न्यूज-18 झारखंड के लाइव शो में ऋचा ने कहा,'बिना जांच के मेरे ऊपर कार्रवाई की गई, मुझे जेल भेज दिया गया. कोर्ट के फैसले का विरोध इसलिए कर रही हूं, क्योंकि यह मुझे सजा के तौर पर सुनाई गई है. कुरान का विरोध नहीं कर रही हूं. मेरे लिए जैसे गीता वैसे कुरान.'
Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: July 17, 2019, 6:48 PM IST
सोशल साइट पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में ऋचा पटेल झारखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगी. ऋचा के मुताबिक वह निचली अदालत की कॉपी पाने का इंतजार कर रही हैं. अब तक उसे यह कॉपी नहीं मिली है. निचली अदालत ने उसे कुरान की पांच प्रतियां बांटने की शर्त पर इस मामले में जमानत दी है. प्रतियां बांटने के लिए उसे 15 दिन का समय दिया गया है. हालांकि ऋचा ने कुरान बांटने से इनकार कर दिया है.

सजा के तौर पर कुरान बांटना मंजूर नहीं 

न्यूज-18 झारखंड के लाइव शो में ऋचा ने कहा,'बिना जांच के मेरे ऊपर कार्रवाई की गई, मुझे जेल भेज दिया गया. कोर्ट के फैसले का विरोध इसलिए कर रही हूं, क्योंकि यह मुझे सजा के तौर पर सुनाई गई है. कुरान का विरोध नहीं कर रही हूं. मेरे लिए जैसे गीता वैसे कुरान.'

ऋचा ने सवाल उठाते हुए कहा कि सजा किस बात की. पोस्ट मेरा नहीं था और उस पर मेरी टिप्पणी आपत्तिजनक नहीं थी, तो सजा किस बात के लिए. अपने वकील से बात की है. लोअर कोर्ट के फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत में अपील करूंगी. अगर मेरी टिप्पणी से किसी को ठेस पहुंचा है, तो दूसरे समुदाय से इससे भी गंदे पोस्ट आते हैं. तब कार्रवाई क्यों नहीं होती है. पुलिस ने दबाव में आकर मेरे ऊपर कार्रवाई की. हालांकि मेरे साथ कोई गलत सलूक नहीं किया.

झारखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी ऋचा पटेल


ये है पूरा मामला 

बता दें कि ऋचा पटेल ने सोशल साइट पर धार्मिक पोस्ट किया था. इसके बाद अंजुमन इस्लामिया (पिठोरिया) के प्रमुख मंसूर खलीफा ने रांची के पिठोरिया थाने में 12 जुलाई को प्राथमिकी दर्ज कराई थी. इसमें उन्होंने ऋचा पर मुस्लिम समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है. इसके बाद पिठोरिया पुलिस ने शुक्रवार की शाम को ऋचा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. इस मामले में सोमवार को न्यायिक दंडाधिकारी मनीष कुमार सिंह की अदालत ने कुरान की पांच प्रतियां बांटने की शर्त पर ऋचा को जमानत दी थी. कोर्ट ने यह भी कहा था कि पिठोरिया पुलिस के संरक्षण में मंगलवार शाम तक ऋचा कुरान की एक प्रति अंजुमन इस्लामिया के सदर मंसूर खलीफा को देगी. बाकी चार विभिन्न शिक्षण संस्थानों में बांटेगी. इसके लिए ऋचा को 15 दिन का समय दिया गया है.
Loading...

ये भी पढ़ें- ऋचा पटेल ने कुरान बांटने से किया इनकार, कहा- यह मेरे मौलिक अधिकार का मसला

कोर्ट ने भड़काऊ पोस्ट करने वाली युवती को दी जमानत, कहा- बांटनी होंगी कुरान की प्रतियां

 

 
First published: July 17, 2019, 10:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...