राहुल गांधी को पप्पू कहने पर झारखंड विधानसभा में जोरदार हंगामा, कांग्रेस विधायक ने पूर्व मंत्री को कहा 'कोरोना'
Ranchi News in Hindi

राहुल गांधी को पप्पू कहने पर झारखंड विधानसभा में जोरदार हंगामा, कांग्रेस विधायक ने पूर्व मंत्री को कहा 'कोरोना'
पूर्व मंत्री सीपी सिंह ने राहुल गांधी पर टिप्पणी की, जिसके बाद कांग्रेस विधायकों ने सदन में जमकर हंगामा किया

सीपी सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने पूर्व मंत्री को कोरोना प्रसाद सिंह नाम दे दिया. उन्होंने कहा कि सीपी सिंह को इलाज की जरूरत है.

  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को पप्पू कहे जाने पर जमकर हंगामा (Ruckus) हुआ. पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने सदन के अंदर राहुल गांधी को पप्पू कह दिया. जिसके बाद कांग्रेस और बीजेपी विधायकों में तीखी बहस हुई. हंगामे को देखते हुए स्पीकर ने सदन की कार्यवाही पहले 12 फिर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

कांग्रेस विधायक ने पूर्व मंत्री को कहा कोरोना

सीपी सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने पूर्व मंत्री को कोरोना प्रसाद सिंह नाम दे दिया. उन्होंने कहा कि सीपी सिंह को इलाज की जरूरत है. जस्टिस गोगोई की राज्यसभा सदस्यता पर इरफान अंसारी ने कहा कि बीजेपी ने गलत परंपरा की शुरुआत की है.



'बयान पर कायम हूं, टूट सकता हूं, लेकिन झूक नहीं सकता'
मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि सीपी सिंह को अपने बयान पर सदन में खेद प्रकट करना चाहिए. हालांकि सीपी सिंह ने सदन में सफाई देते हुए कहा कि यदि किसी को उनके शब्द से तकलीफ है, तो महाधिवक्ता से लीगल परामर्श ले लें. मैं अपने बयान पर कायम हूं. टूट सकता हूं, लेकिन झूक नहीं सकता. मैंने कोई असंसदीय बात नहीं की.

स्टीफन मरांडी के आरोप पर पलटवार करते हुए सीपी सिंह ने कहा कि आसन का मैंने हमेशा सम्मान किया है. यदि मैंने असंसदीय शब्द का इस्तेमाल किया होगा, तो माफी मांग लेता. मगर मैंने ऐसा नहीं किया है.

भूखल घासी मौत मामले में जांच की मांग 

इससे पहले बोकारो के कसमार में छह मार्च को हुई कथित तौर पर भूख से 42 वर्षीय भूखल घासी की मौत के मामले पर बीजेपी विधायकों ने जांच की मांग की. जवाब में संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने भरोसा दिलाया कि सरकार इस मसले पर गंभीर है. मामले की जांच कराने के बाद सदन में जानकारी दी जाएगी.

गुरुवार को भी भाजपा विधायकों ने भूखल घासी मौत मामले में प्रदर्शन किया था. विधायकों ने सदन के अंदर वेल में उतरकर नारेबाजी भी की थी. और पीड़ित परिवार के लिए 10 लाख रुपये मुआवजे की मांग की थी. साथ ही कहा कि सरकार ऐसी व्यवस्था करे, जिससे सूबे में भूख से मौत न हो. पूर्व मंत्री अमर बाउरी ने आरोप लगाया कि जिस तरह से बीडीओ ने भूखल घासी के परिवार को 25 हजार रुपए का प्रलोभन देकर मौत का कारण बीमारी बताने को कहा था, यह निंदनीय है.

इनपुट- भुवनकिशोर झा, संजय सिन्हा

ये भी पढ़ें- कोरोना के खौफ के बीच झारखंड में मैट्रिक-इंटर परीक्षा की कॉपी जांच शुरू 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading