हौसले को सलाम : पढ़ाई का ऐसा जज्बा कि मजदूरी कर बन गई प्लस-टू की टीचर

वह महिला मजदूरी किया करती थी. लेकिन उस पर पढ़ने का शौक हावी था. वह किसी भी सूरत में पढ़-लिखकर समाज में नाम कमाना चाहती थी, अपने जीवन स्तर को उठाना चाहती थी. बस उसके इसी इरादे ने उसे इतना बल दे दिया किया आज वह राजकीय प्लस-टू की ट्रेंड टीचर बन गई है.

News18 Jharkhand
Updated: July 21, 2019, 5:09 PM IST
हौसले को सलाम : पढ़ाई का ऐसा जज्बा कि मजदूरी कर बन गई प्लस-टू की टीचर
(सांकेतिक तस्वीर) - मजदूरी कर पढ़ाई पूरी की अब टीचर बन गई.
News18 Jharkhand
Updated: July 21, 2019, 5:09 PM IST
इरादे बुलंद हों तो कोई भी मुश्किल आड़े नहीं आ सकती. कहते भी हैं- जहां चाह, वहां राह. ठीक ऐसा ही उदाहरण पेश किया है झारखंड की एक महिला ने. वह महिला मजदूरी किया करती थी. लेकिन उस पर पढ़ने का शौक हावी था. वह किसी भी सूरत में पढ़-लिखकर समाज में नाम कमाना चाहती थी, अपने जीवन स्तर को उठाना चाहती थी. बस उसके इसी इरादे ने उसे इतना बल दे दिया किया आज वह राजकीय प्लस-टू की ट्रेंड टीचर बन गई है. कल शनिवार को रांची के जिला स्कूल में झारखंड के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने मुन्नावती नाम की इस महिला को पोस्टिंग लेटर सौंपा. खास बात ये है कि मुन्नावती रांची विश्वविद्याल की टॉपर छात्रा रही है.

हावी रहा पढ़ने का शौक

रांची यूनिवर्सिटी की छात्रा मुन्नावती ने आर्थिक तंगी को अपनी पढ़ाई में बाधक बनने नहीं दी. 

रांची यूनिवर्सिटी की छात्रा मुन्नावती ने आर्थिक तंगी को अपनी पढ़ाई में बाधक बनने नहीं दी.मुन्नावती रांची के डोलइंटा गांव की रहने वाली है. उसका परिवार आर्थिक तंगी से पीड़ित है. बताने की जरूरत नहीं कि ऐसे में परिवार के लिए दो जून की रोटी का जुगाड़ करने के अलावा और कुछ कर पाना कितना कठिन होगा. लेकिन परिवार की इस आर्थिक तंगी को मु्न्नावती अपनी पढ़ाई में बाधक नहीं बनने दी. उसने मजदूरी करते हुए जो भी पैसे कमाए उससे उसने अपनी पढ़ाई पूरी की. दैनिक भास्कर में छपी खबर के अनुसार वह रोज 12 किमी पैदल चल कर पढ़ने जाया करती थी. अपने इस संघर्ष से पढ़ाई के जुनून को कायम रखते हुए उसने रांची यूनिवर्सिटी से पीजी संस्कृत में की. वह गोल्ड मेडलिस्ट बनी. अब वह इस पढ़ाई की बदौलत प्लस-टू हाईपोस्ट ग्रेजुएट ट्रेंड टीचर बन गई है.

जिला स्कूल में आयोजित समारोह में मुन्नावती के साथ ही कुल 580 पीटीजी और टीजीटी टीचर्स को पोस्टिंग लेटर दिए गए. इस अवसर पर नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि शिक्षकों की भूमिका समाज निर्माण में अत्यंत महत्वपूर्ण है. उन्होंने शिक्षकों से अपील करते हुए कहा कि वे बच्चों को ईमानदारी के साथ शिक्षा दें.

ये भी पढ़ें - ऋचा को कॉलेज आने-जाने में लगता है डर, CM से मांगी सुरक्षा...

ये भी पढ़ें - गोलियों से थर्राया धनबाद, तीन छात्रों को मारी गोली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 21, 2019, 5:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...