लाइव टीवी

झारखंड मंत्रालय में मौजूद है 'सासु मां की जुबान', हवा शुद्ध रखनी हो तो लाइए घर
Ranchi News in Hindi

Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: February 12, 2020, 6:21 PM IST
झारखंड मंत्रालय में मौजूद है 'सासु मां की जुबान', हवा शुद्ध रखनी हो तो लाइए घर
झारखंड मंत्रालय के परिसर में मंगलवार को सीएम हेमंत सोरेन ने औषधीय उद्यान का उद्घाटन किया.

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि औषधीय पौधों में रोग निवारण की जबरदस्त क्षमता होती है. इसलिए पूरे राज्य में औषधीय पौधों को लगाने पर जोर दिया जाएगा. औषधीय उद्यानों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी.

  • Share this:
रांची. झारखंड मंत्रालय (Jharkhand Secretariat) के परिसर में मौजूद औषधीय उद्यान (Medicinal Garden) में वैसे तो 60 प्रजाति के पौधे लगे हैं, लेकिन सबसे ज्यादा आकर्षण का केन्द्र 'सासु मां की जुबान' नामक पौधा है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मंगलवार को इस औषधीय उद्यान का उद्घाटन किया. दरअसल अंग्रेजी में इस पौधे को 'मदर इनलॉज टंग' (Mother In-laws Tongue) कहा जाता है. लिहाजा इसका हिन्दी में नाम सासु मां की जुबान रखा गया है. इसके पत्ते लंबी जुबान की तरह दिखते हैं. और इसे घर के अंदर गमले में लगाने पर हवा शुद्ध होती है. ऑक्सीजन की अच्छी मात्रा बनी रहने से घरवाले पूरे दिन तरो-ताजा महसूस करते हैं.

सीएम ने किया उद्घाटन
इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज भी औषधीय पौधे हमारे लिए काफी उपयोगी हैं. इनका अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए और इसे संरक्षित रखना चाहिए. वर्तमान में देश और दुनिया हर्बल के क्षेत्र में तेजी से कदम बढ़ा रहे हैं. झारखंड सरकार भी हर्बल आधारित उद्योग को बढ़ावा देगी. सीएम ने कहा कि औषधीय पौधों में रोग निवारण की जबरदस्त क्षमता होती है. इसलिए पूरे राज्य में औषधीय पौधों को लगाने पर जोर दिया जाएगा. औषधीय उद्यानों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी.

औषधीय उद्यान में लगे 'सासु मां की जुबान' पौधे
औषधीय उद्यान में लगे 'सासु मां की जुबान' पौधे


दी गई है पौधों के नाम और उपयोग की जानकारी
उद्यान में सभी पौधों के साथ सूचना पट्टिका लगाई गई है, जिसमें पौधों के नाम और उसके उपयोग के बारे में जानकारी दी गई है. उद्यान में लेमन ग्रास, गुड़मार, इन्सुलिन, धतुरा, श्याम तुलसी, गुड़हल, कपूर, रद्राक्ष और सर्पगंधा जैसे गुणकारी पौधे लगा गए हैं.

ये भी पढ़ें-नेतरहाट की शांत वादियों में कला की किलकारी, देशभर से जुटे 60 चित्रकार 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 4:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर