कोरोना के चलते झारखंड में इस साल भी नहीं निकलेगा सरहुल और रामनवमी का जुलूस, सरकार ने दिये संकेत

झारखंड में कोरोना संक्रमण में तेजी से इजाफे को देखते हुए आगे भी भीड़भाड़ और जुलूस पर रोक जारी रहेगी.

झारखंड में कोरोना संक्रमण में तेजी से इजाफे को देखते हुए आगे भी भीड़भाड़ और जुलूस पर रोक जारी रहेगी.

Corona Infection in Jharkhand: सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए ही झारखंड में अब तक जुलूस और भीड़भाड़ पर रोक जारी है. ताजा हालात को देखते हुए यह जरूरी है कि आगे भी ये रोक जारी रहे.

  • Share this:
रांची. झारखंड में कोरोना (Corona) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) की बातों से यह स्पष्ट हो गया कि इस साल राज्य में सरहुल और रामनवमी पर जुलूस नहीं निकलेगा. मंगलवार को बजट सत्र के समापन भाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि फिर से संक्रमण बढ़ रहा है. रांची और जमशेदपुर में ज्यादा मामले सामने आए हैं. इसको लेकर सरकार गंभीर है.

सीएम ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए ही झारखंड में अब तक जुलूस और भीड़भाड़ पर रोक जारी है. ताजा हालात को देखते हुए आज ही आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा की गई है. इसलिए जरूरी है कि हालात नियंत्रण में आने तक भीड़भाड़ पर रोक लगा रहे. सचेत रहने की जरूरत है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान ना करे कि झारखंड में लॉकडाउन की स्थिति बने. इसलिए सजग रहने की जरूरत है. कोरोना के विकराल रूप की आहट सुनाई दे रही है. इसी को देखते हुए पिछले दिनों प्रधानमंत्री ने अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग की थी. उस मीटिंग में पीएम को राज्य के हालात से अवगत कराया गया. फिलहाल हालात ठीक नहीं हैं. कुछ दिन बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जाएगा.

समापन भाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने वित्तीय वर्ष 2021- 22 के बजट की खासियत गिनाई. उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में क्रय शक्ति बढ़ाने पर जोर रहेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में करीब 35% पद खाली हैं, अब तक यहां सरकारें जुगाड़ पर चलती रहीं, लेकिन हमारी सरकार लॉन्ग टर्म प्लान पर आगे बढ़ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज