Cyclone Yaas News: चक्रवाती तूफान यास के कारण झारखंड में भारी बारिश, रांची में बने बाढ़ जैसे हालात

झारखंड में इस समय तेज बारिश हो रही है.

झारखंड में इस समय तेज बारिश हो रही है.

Cyclone Yaas News: चक्रवाती तूफान यास की वजह से झारखंड के पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला, पश्चिमी सिंहभूम, बोकारो के अलावा खूंटी एवं पश्चिमी सिंहभूम में भारी बारिश हो रही है. जबकि राजधानी रांची में भी बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं.

  • Share this:

रांची. चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से वैसे तो पूरे झारखंड में बारिश हो रही है, लेकिन रांची (Ranchi) में हो रही बारिश से बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. राज्‍य की राजधानी के एक स्थानीय व्यक्ति के मुताबिक, चक्रवाती तूफान यास के कारण कल से यहां बारिश हो रही है इसलिए यहां का रास्ता ब्लॉक हो गया है. हम यहां पिछले 30-35 साल से रह रहे हैं और जब भी बारिश होती है तो यहां पानी ऐसे ही भर जाता है.

इसके अलावा चक्रवाती यास की वजह से रांची में तेज बारिश होने के कारण स्‍थानीय नदी का पानी भी लगातार बढ़ रहा है. बता दें कि चक्रवाती तूफान यास बुधवार रात 75 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की हवाओं और भारी बारिश के साथ झारखंड की सीमा में पहुंचा था. जबकि आज कई जगह न सिर्फ तेज हवा चल रही है बल्कि जोरदार बारिश भी हो रही है. यही नहीं, तूफान से प्रभावित होने की आशंका वाले जिलों में एनडीआरएफ की आठ कंपनियां तैनात की गयी हैं.


सरकार ने जारी किया अलर्ट
चक्रवात के मद्देनजर राज्य में लोगों को अगले चौबीस घंटे घरों में ही रहने को कहा गया है और कोल्हान प्रमंडल के पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला, पश्चिमी सिंहभूम, बोकारो के अलावा खूंटी एवं पश्चिमी सिंहभूम जिलों में निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम लगातार जारी है. अब तक दस हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचा दिया गया है. झारखंड के आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव डा. अमिताभ कौशल ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान यास बुधवार रात लगभग साढ़े आठ बजे झारखंड की सीमा में प्रवेश कर गया और उसके बाद से लगातार बारिश हो रही है.

यही नहीं, झारखंड में चक्रवाती तूफान यास का असर 26-27 मई को ज्यादा पड़ेगा. जबकि 28 को इसके धीमा पड़ जाने की संभावना है. इस बीच राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत चक्रवाती तूफान से बचाव और राहत को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग ने तैयारियां पूरी कर ली हैं जिसके तहत अस्पतालों में बिजली और ऑक्सीजन आपूर्ति बाधित नहीं हो इसके लिए जेनरेटर आदि की व्यवस्था की गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज