Smart City Mission : पहले पायदान पर पहुंचा झारखंड, जानिए किन कारणों से मिली टॉप रैंक

100 शहरों की सूची में राजधानी रांची बढ़त के साथ 12वें स्थान पर पहुंच गई है.

100 शहरों की सूची में राजधानी रांची बढ़त के साथ 12वें स्थान पर पहुंच गई है.

रांची स्मार्ट सिटी को टॉप रैंक दिलाने में एचईसी का सबसे बड़ा योगदान है. शहरी क्षेत्र में एचईसी की 656 एकड़ जमीन पर देश में पहली ग्रीन फील्ड स्मार्ट सिटी बनने की दिशा में रांची आगे बढ़ रही है.

  • Share this:

रांची. देश के 36 राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेश के विभिन्न 100 शहरों में चल रही स्मार्ट सिटी मिशन की योजनाओं के क्रियान्वयन के प्रगति के आधार पर केन्द्रीय आवासान एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने हाल ही में रैंकिंग जारी की है. इस रैंकिंग में झारखंड पहले पायदान पर पहुंच गया है. 100 शहरों की सूची में झारखंड की राजधानी रांची लगातार बढ़त के साथ 12वें स्थान पर पहुंच गई है. इस सूची में दिल्ली 11वें स्थान पर और बिहार 27वें स्थान पर है. शहरों की सूची में न्य़ू दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन 41वें और बिहार की राजधानी पटना 68वें स्थान पर है.

पहले में स्मार्ट सिटी मिशन की ओर से एक महीने, पखवाड़ा और सप्ताह में रैंकिंग जारी करने की व्यवस्था थी लेकिन अब यह रैंकिंग हर समय ऑनलाइन प्रक्रिया से अपडेट होती रहती है. इस रैंकिंग में स्मार्ट सिटी मिशन द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन और प्रगति को आधार बनाया जाता है और कई कार्यों के लिए अंक निर्धारित होते हैं. गौरतलब है कि राजधानी रांची में स्मार्ट सिटी मिशन के तहत धुर्वा में 656 एकड़ जमीन पर नए शहर का निर्माण हो रहा है.

रांची स्मार्ट सिटी को टॉप रैंक दिलाने में एचईसी का सबसे बड़ा योगदान है. शहरी क्षेत्र में एचईसी की 656 एकड़ जमीन पर देश में पहली ग्रीन फील्ड स्मार्ट सिटी बनने की दिशा में रांची आगे बढ़ रही है. अर्बन टावर, सिविक सेंटर, जुप्मी बिल्डिंग, साइकिल शेयरिंग सिस्टम, पैन सिटी के तहत पांच स्मार्ट रोड, फ्लाईओवर, ट्रैफिक मैनेजमेंट कमांड एंड कंट्रोल सिस्टम, बिरसा मुंडा स्मृति पार्क पर काम होने से अधिक अंक मिले हैं. गौरतलब है कि रांची के एचईसी इलाके में स्मार्ट सिटी का कार्य तेजी से चल रहा है. यहां 150 करोड़ की लागत से डाटा सेंटर बन रहा है, जहां से शहर की 29 नागरिक सेवाएं एक कमांड से संचालित होंगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज