• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • रांची में आयोजित अंडर-9 नेशनल चेस चैंपियनशिप स्नेहा हलदर के नाम

रांची में आयोजित अंडर-9 नेशनल चेस चैंपियनशिप स्नेहा हलदर के नाम

रांची - नेशनल चेस चैम्पियनशीप में देशभर के 25 राज्यों से आये 424 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया.

रांची - नेशनल चेस चैम्पियनशीप में देशभर के 25 राज्यों से आये 424 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया.

दोनों वर्गों में चैम्पियन बने ये बच्चे 2019 के एशियन चैम्पियनशीप के अलावा वर्ल्ड चैम्पियनशीप में भाग लेंगे. इधर ऑल इंडिया चेस फेडरेशन ने बच्चों की खेल प्रतिभा की सराहना करते हुए उम्मीद जतायी है कि आने वाले समय में ये बच्चे जरूर देश का नाम रोशन करेंगे.

  • Share this:
रांची में पहली बार आयोजित अंडर-9 नेशनल चेस चैम्पियनशीप में कोलकाता की स्नेहा हलदर ने कब्जा जमा लिया. वहीं ओपन वर्ग में तमिलाडू के एआर इलमपर्थी चैम्पियन घोषित किये गये. 15 से 23 सितंबर तक 11 राउंड में चले इस चैम्पियनशीप में देशभर के 25 राज्यों के 424 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया. दोनों वर्गों के तीन तीन विजेताओं को 2019 में एशियाई और विश्व चैम्पियनशीप के लिए चयन करते हुए ट्रॉफी प्रदान की गई.

ऑल इंडिया चेस फेडरेशन द्वारा रांची में पहली बार आयोजित की गई इस नेशनल चेस चैम्पियनशीप में देशभर के 25 राज्यों से आये 424 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया. 15 से 23 सितंबर तक हरमू के दिगंबर जैन भवन में आयोजित की गई इस चेस चैम्पियनशीप में भाग लेने के लिए बच्चों का उत्साह देखते ही बन रहा था. 11 राउंड में खेले गये इस टूर्नामेंट में गर्ल्स विंग में दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र की सुहानी लोहिया और तीसरे स्थान पर इंदिरा प्रियदर्शिनी रही. वहीं ओपन कोटे के अंडर-9 में आसाम के मयंक चक्रवर्ती दूसरे और राजस्थान के भारदिया यस तीसरा स्थान पाने में सफल हुए. सभी विजेताओं को चैम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष दीपक मारु और चेसबैंक इंडिया के संपादक एवं कोऑर्डिनेटर मो. इमरान ने ट्रॉफी और पुरस्कार राशि देकर सम्मानित किया.

दोनों वर्गों में चैम्पियन बने ये बच्चे 2019 के एशियन चैम्पियनशीप के अलावा वर्ल्ड चैम्पियनशीप में भाग लेंगे. इधर ऑल इंडिया चेस फेडरेशन ने बच्चों की खेल प्रतिभा की सराहना करते हुए उम्मीद जतायी है कि आने वाले समय में ये बच्चे जरूर देश का नाम रोशन करेंगे. उम्र भले ही इनकी छोटी हो मगर शह और मात के इस खेल को खेलने में ये पारंगत हैं. जाहिर तौर पर इनके इस टैलेंट की आवश्यकता देश को है. इन बच्चों ने इस टूर्नामेंट में अपनी प्रतिभा दिखाकर ये साबित कर दिया है कि इनका लक्ष्य वर्ल्ड और एशियन चेस चैम्पियनशीप जीतने का है.

ये भी पढ़ें - पूर्व मंत्री बोलीं- आयुष्मान भारत से गरीबों को नहीं, निजी अस्पतालों को मिलेगा लाभ

झारखंड की धरती से देश को मिली 'आयुष्मान भारत' की सौगात, PM बोले- गरीबों की सेवा करने का मिला बड़ा मौका

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज