यास को लेकर तैयार हुआ मास्टर प्लान, अस्पतालों में इस तरह किए गए इंतजाम

यास के प्रभाव से बचाने रांची में अलर्ट, एनडीआरएफ की टीमें तैयार

चक्रवाती तूफान यास को लेकर व्यापक तैयारी करने उपायुक्त रांची छवि रंजन ने आपदा प्रबंधन समिति के संबंधित पदाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों तूफान से होने वाली क्षति के मद्देनजर  पदाधिकारियों को व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए.

  • Share this:
रांची. चक्रवाती तूफान यास ( Yass ) के मद्देनजर जिले में व्यापक तैयारी को लेकर उपायुक्त रांची छवि रंजन ने आपदा प्रबंधन समिति के संबंधित पदाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में उपायुक्त ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों तूफान से होने वाली क्षति के मद्देनजर तैयारियों को लेकर पदाधिकारियों को व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. बैठक में अस्पतालों को लेकर विशेष तौर से मंथन किया गया, जिसमें ऑक्सीजन की कमी न हो इसके लिए 48 घंटे का स्टॉक तैयार किया गया.

तूफान के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज सुचारू रूप से चलता रहे इसके लिए ऑक्सीजन रिफिलिंग स्टेशन से बातचीत कर मुकम्मल प्रबंध कर लिए गए हैं. यास के मद्देनजर आवश्यक बैकअप रखने का निर्देश रिफलिंग स्टेशनों को दिया गया है. अस्पतालों में भी ऑक्सिजन का स्टॉक मेंटेन किया जा रहा है. इसके साथ ही ऑक्सिजन वैन भी पूरी तरह से तैयार हैं. उपायुक्त छवि रंजन ने बताया कि निर्बाध बिजली आपूर्ति की व्यवस्था का भी प्रयास है. आकस्मिक कारणों से बिजली आपूर्ति प्रभावित होने की स्थिति में सभी ऑक्सीजन रिफलिंग  स्टेशन बैकअप तैयार रखने को कहा गया है.

तूफान के दौरान कोई परेशानी होने पर कंट्रोल रूम को दें जानकारी

तूफान के दौरान विधि- व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए कंट्रोल रूम पूरी तरह से एक्टिव हैं. कंट्रोल रूम में मजिस्ट्रेट को अलर्ट रहने का निदेश दिया गया है. उपायुक्त ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में कम्युनिकेशन गैप न हो. विधि व्यवस्था से संबंधित किसी प्रकार की जानकारी देने के लिए रांची के लोग 0651-2207784 पर कॉल कर सकते हैं. यातायात व्यस्था में कोई परेशानी न हो इसे लेकर निगम के साथ ट्रैफिक पुलिस ने भी कमर कस ली है. तूफान के दौरान सडक़ पर अगर कोई पेड़ गिर जाता है तो उसे तुरंत हटाने के लिए निगम ने अपनी मुकम्मल तैयारी की है. एनडीआरएफ भी इसे लेकर पूरी तरह से तैयार है.

बनाए गए अस्थाई शेल्टर होम
तूफान यास के देखते हुए जिला के सभी प्रखंडों में अस्थाई शेल्टर होम बनाए गए हैं. संबंधित अंचल अधिकारी द्वारा शेल्टर होम में लोगों के रहने, खाने-पीने इत्यादि की व्यवस्था की गई है.

एनडीआरएफ ने लोगों को किया जागरुक
यास चक्रवाती तूफान को लेकर झारखंड में भी जान-माल की नुकसान की आशंका जताई जा रही है. जिसे देखते हुए एनडीआरएफ को विशेष तौर से अलर्ट पर रखा गया है. एनडीआरएफ की 9 वीं बटालियन की 2 टुकड़ीं रांची में अलर्ट मोड पर हैं. जमशेदपुर में भी इसी बटालियन की 3 कंपनियां तैनात की गई हैं.