• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • काम की खबर: झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में स्पोर्ट्स इंज्यूरी का इलाज हुआ आसान

काम की खबर: झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में स्पोर्ट्स इंज्यूरी का इलाज हुआ आसान

रिम्स में पिछले एक सप्ताह में कई स्पोर्ट्स इंज्यूरी से परेशान मरीजों का इलाज किया गया.

रिम्स में पिछले एक सप्ताह में कई स्पोर्ट्स इंज्यूरी से परेशान मरीजों का इलाज किया गया.

Jharkhand News: झारखंड खेलकूद प्रधान राज्य है. ऐसे में यहां स्पोर्ट्स इंज्यूरी से ग्रसित मरीजों की संख्या पहले से ही काफी है. लेकिन इनमें से अधिकतर मरीज जानकारी के अभाव में उचित इलाज से वंचित रह जाते हैं.

  • Share this:

रांची. झारखंड के सबसे बड़े हॉस्पिटल रांची स्थित रिम्स (RIMS) में स्पोर्ट्स इंज्यूरी का इलाज आसान हो गया है. इससे प्रदेश के खिलाड़ियों को इसके लिए अब दिल्ली या बाहर का रूख नहीं करना पड़ेगा. खासकर कम उम्र के एथलीट्स को ज्यादा स्पोर्ट्स इंज्यूरी होती है. रिम्स के हड्डी रोग विभाग में बीते दो सप्ताह में 10 स्पोर्ट्स इंज्यूरी से परेशान मरीजों का इलाज किया गया. डॉ गोविन्द कुमार गुप्ता ने दूरबीन (अर्थरोस्कोपी) विधि से सफलता पूर्वक इलाज किया.

डॉक्टर गोविंद ने बताया कि झारखंड खेलकूद प्रधान राज्य है. ऐसे में यहां स्पोर्ट्स इंज्यूरी से ग्रसित मरीजों की संख्या पहले से ही काफी है. लेकिन इनमें से अधिकतर मरीज जानकारी के अभाव में उचित इलाज से वंचित रह जाते थे. लेकिन अब ऐसे मरीजों में इलाज को लेकर जागरूकता बढ़ी है, जो सराहनीय है.

डॉ गुप्ता के मुताबिक झारखंड के खिलाड़ी पहले अपने स्पोर्ट्स इंज्यूरी के इलाज के लिए दिल्ली स्थित सफदरजंग हॉस्पिटल जाते थे. लेकिन अब रिम्स में ही यह सुविधा उपलब्ध हो गई है. यह राज्य का ऐसा पहला हॉस्पिटल, जहां स्पोर्ट्स इंज्यूरी का इलाज संभव हो पाया है.

बता दें कि इस तरह की मरीजों में जागरूकता फैलाने के लिए रिम्स में प्रत्येक वर्ष स्पोर्ट्स इनजूरीस वर्कशॉप का भी आयोजन किया जाता है. इस वर्ष यह 10 अगस्त को आयोजित किया गया. इसी का परिणाम है कि अब ऐसे मरीज अपनी समस्या के निदान के लिए जागरूक हो रहे हैं. स्पोर्ट्स इंज्यूरी से ग्रसित मरीज (एसीएल टिएर, पीसीएल टिएर, एमसीएल टिएर, एलसीएल टिएर, मिनिस्कस टिएर, रोटेटर कफ टिएर, बंकार्ट लीशन) अपने इलाज के लिए प्रत्येक बुधवार या शनिवार को रिम्स के स्पोर्ट्स इंज्यूरी ओपीडी (हड्डी विभाग) में डॉ गोविंद से संपर्क कर अपना इलाज करा सकते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज