15 साल पहले तबरेज के पिता की कथित मॉब लिंचिंग पर उसके चाचा ने दिया ये बयान
Ranchi News in Hindi

15 साल पहले तबरेज के पिता की कथित मॉब लिंचिंग पर उसके चाचा ने दिया ये बयान
तबरेज अंसारी के चाचा मो. मरसूद आलम- फोटो ANI

मरसूद आलम ने उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें तबरेज के पिता को भी 15 साल पहले भीड़ द्वारा मौत के घाट उतारने की बात कही थी.

  • Share this:
झारखंड में सरायकेला के धातकीडीह में बीते 18 जून की रात हुई मॉब लिंचिंग में मारे गए तबरेज अंसारी के चाचा मो. मरसूद आलम ने उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें तबरेज के पिता को भी 15 साल पहले भीड़ द्वारा मौत के घाट उतारने की बात कही थी. मरसूद आलम का कहना है उनकी हत्या मॉब लिंचिंग में नहीं बल्कि दोस्तों के साथ हुए विवाद में की गई थी, जिसके एक हफ्ते बाद परिवार को उनका शव मिला था.



गौरतलब हो कि बीते 18 जून को तबरेज को एक बिजली के खंभे से बांधकर भीड़ ने जमकर पीटा था. इतना ही नहीं उस पर चोरी का आरोप लगाया गया. इसके बाद भीड़ ने उससे जबरदस्ती 'जय श्री राम' और 'जय हनुमान' के नारे लगवाए. सरायकेला खरसावां जिले के धातकीडीह गांव में हुई इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ है.
बहरहाल, इसके बाद पुलिस ने तबरेज अंसारी को अस्पताल में भर्ती कराने के बजाए जेल भेज दिया. इस पर जब परिजनों ने तबरेज का इलाज कराने को कहा तो उन्हें भी जेल भेजने की धमकी दी गई. परिजनों का कहना है कि अगर तबरेज का इलाज कराया गया होता तो शायद उसकी मौत नहीं होती.



बता दें कि सोमवार को पुलिस ने मामले में चार और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में दो पुलिसकर्मियों को भी सस्पेंड कर दिया गया है, जिन्होंने मामले की गंभीरता को नहीं समझा था. इससे पहले रविवार को एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया था.

ये भी पढ़ें:- ये मॉब नहीं मॉबलाइज लिंचिंग है- इमरान प्रतापगढ़ी

ये भी पढ़ें:- तबरेज मॉब लिंचिंग में उछला AIMIM नाम, धमकाने के आरोप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज