लाइव टीवी

दुर्गा पूजा के पंडाल में लगी लालू यादव और राबड़ी देवी की मूर्तियां, RJD ने जताया आभार

Prerana Kumari | News18 Jharkhand
Updated: October 7, 2019, 12:41 AM IST
दुर्गा पूजा के पंडाल में लगी लालू यादव और राबड़ी देवी की मूर्तियां, RJD ने जताया आभार
आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी को रांची के दुर्गा पूजा के पंडाल में एक अलग अंदाज में पेश किया गया है.

रांची के नवयुवक संघ ने दुर्गा पूजा के पंडाल में लालू यादव (Lalu Yadav) और राबड़ी देवी (Rabri Devi) की मूर्तियों को प्रतिष्ठापित किया है.

  • Share this:
रांची. झारखंड की राजधानी रांची (Ranchi) के नामकुम स्थित दुर्गा पूजा के पंडाल (Durga Puja Pandal) में भक्ति के साथ ही राजनीति की झलक भी देखने को मिल रही है. पूजा पंडाल के भीतर दुर्गा मां और अन्य देवताओं की प्रतिमा के साथ आरजेडी (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद (Lalu Yadav) और राबड़ी देवी (Rabri Devi) की प्रतिमा (Statue) को भी स्थापित किया गया है.

लालू यादव को 'गरीबों के मसीहा' और राबड़ी देवी को बताया 'राजमाता'
मां दुर्गा के एक तरफ जहां हाथ जोड़े लालू प्रसाद की प्रतिमा खड़ी है, वहीं दूसरी तरफ राबड़ी देवी की. प्रतिमाओं में एक पोस्टर भी लटकाया गया है. जिसमें लालू प्रसाद को 'गरीबों के मसीहा' तो राबड़ी देवी को 'राज माता' बताया गया है. पंडाल के चारो तरफ आरजेडी का चुनाव चिन्ह लालटेन लटकाया गया है. पंडाल के इस आयोजन को लेकर श्रद्धालुओं में नाराजगी देखी गई. श्रद्धालुओं ने कहा कि पूजापाठ के साथ राजनीति करना ठीक बात नहीं.

पूजा पंडाल में भक्ति के साथ ही राजनीति की झलक


आयोजकों की सफाई
वहीं पूजा पंडाल के आयोजक और राज्य आरजेडी महासचिव विनय सिंह का कहना है कि जब मंदिर में गोडसे की पूजा हो सकती है तो 'गरीबों के मसीहा' लालू प्रसाद यादव की क्यों नहीं. हमने कोई राजनीति करने की कोशिश नहीं की है. हमने तो हाथ जोड़े हुए लालू और राबड़ी देवी जी की प्रतिमा लगाई है. हम चाहते हैं कि लालू जी जल्द से जल्द ठीक हो जाएं. इसके लिए नवरात्रि के दसवें दिन हमने एक यज्ञ का आयोजन भी किया है.

आरजेडी ने जताया आभार
Loading...

इधर लालू-राबड़ी की प्रतिमाओं को टैग करते हुए आरजेडी ने ट्वीट कर आभार जताया है. ट्वीट में लिखा, 'रांची, झारखंड के नवयुवक संघ को आरजेडी परिवार तहेदिल से आभार प्रकट करता है कि आपने गरीबों, उपेक्षितों, उत्पीड़ितों, उपहासितों, वंचितों के मसीहा लालू जी के सामाजिक कार्यों को कला के माध्यम से रेखांकित करने का सराहनीय कार्य किया है. आप इसके लिए बधाई के पात्र हैं. आपको ढेर सारी शुभकामनाएं'.

वहीं, आरजेडी ने दूसरे ट्वीट में लिखा, 'आसाराम की पूजा की जा सकती है. राम-रहीम की पूजा की जा सकती है. चिन्मयानंद की पूजा की जा सकती है. पर विवाद तब उठता है जब हाथ जोड़ दुर्गा के सामने खड़े लालू जी और राबड़ी देवी जी की प्रतिमा लगा दी जाती है. विवाद तब उठता है जब कमल की जगह सजावट के लिए पंडाल में लालटेन लगा दिया जाता है'.

ये भी पढ़ें-

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: जेडीयू ने 8 सीटों के लिए प्रत्याशियों का किया ऐलान

झारखंड के पहले तारामंडल का उद्घाटन, 15 अक्टूबर से लोग उठा पाएंगे लुत्फ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 12:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...