Home /News /jharkhand /

4 मैच में दागे थे 18 गोल, अब टीम इंडिया में हुआ झारखंड की बेटी सुमति कुमारी का सेलेक्शन

4 मैच में दागे थे 18 गोल, अब टीम इंडिया में हुआ झारखंड की बेटी सुमति कुमारी का सेलेक्शन

झारखंड की सुमति कुमारी सीनियर भारतीय महिला फुटबॉल टीम के लिए चुनी गई हैं

झारखंड की सुमति कुमारी सीनियर भारतीय महिला फुटबॉल टीम के लिए चुनी गई हैं

Sumati Kumari Footballer: गुमला की रहने वाली सुमति ने महज 18 साल में ही सीनियर भारतीय फुटबॉल टीम (Indian Female Football Team) में अपना स्थान बनाने में कामयाबी हासिल की. सुमति झारखंड के गुमला जिले के सेंट पैट्रिक स्कूल में इंटर की छात्रा है. सुमति एक अच्छी फुटबॉलर होने के साथ-साथ एक अच्छी होनहार विद्यार्थी भी है. उनके टीम इंडिया में चुने जाने पर झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने भी शुभकामनाएं दी हैं.

अधिक पढ़ें ...

रांची. हॉकी और तीरंदाजी के साथ-साथ झारखंड की बेटियों ने राष्ट्रीय स्तर पर फुटबॉल (Football) में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई है. झारखंड की तेजतर्रार फुटबॉलर सुमति कुमारी (Footballer Sumati Kumari) का चयन AFC एशिया कप के लिए भारतीय सीनियर वीमेंस टीम के लिए किया गया है. गुमला की रहने वाली सुमति ने महज 18 साल में ही सीनियर भारतीय फुटबॉल टीम (Indian Female Football Team) में अपना स्थान बनाने में कामयाबी हासिल की. सुमति फुटबॉल में फॉरवर्ड स्थान से खेलती हैं.

उन्होंने अंडर-17 में पिछले साल महाराष्ट्र के कोल्हापुर में आयोजित नेशनल टूर्नामेंट में महज चार मैच में ही 18 गोल किए थे. उस दौरान वह टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा गोल करने वाली सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर भी घोषित की गई थीं, इसके बाद से ही उसका चयन अंडर-17 इंडिया कैंप के लिए कर लिया गया. पिछले तीन-चार सालों में सुमति का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा है और उसी की बदौलत आज उसका चयन सीनियर टीम के लिए किया गया.

गुमला की सिसई की रहने वाली सुमति के पिता एक किसान हैं और वह गुमला के सेंट पैट्रिक स्कूल में इंटर की छात्रा है. सुमति एक अच्छी फुटबॉलर होने के साथ-साथ एक अच्छी होनहार विद्यार्थी भी है. उसने दसवीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास की थी. सुमति के एक अच्छे फुटबॉलर बनने में सेंट पैट्रिक स्कूल के प्रिंसिपल फादर रामू का काफी सहयोग रहा है.

सुमति जब गुमला से रांची खेलने पहुंची थी तभी सुमति के खेल पर फुटबॉल कोच एस प्रधान की नजर उस पर पड़ी. उन्होंने उसी समय फादर रामू को बताया कि वह सुमति का पासपोर्ट बनाकर तैयार रखें क्योंकि यह लड़की जल्द ही भारतीय टीम में खेलने वाली है.

इसके बाद एस. प्रधान के नेतृत्व में ही नेशनल टूर्नामेंट खेलने के लिए अंडर-17 में सुमति महाराष्ट्र के कोल्हापुर गई‌ जहां उसने महज चार मैचों में ही 18 गोल दागे थे. कोच ने शुरुआती खेल में ही देखकर यह भविष्यवाणी कर दी थी कि सुमति का खेल और उसकी फूर्ति लड़कों से कम नहीं है. वह लड़कों की तरह ही इस तरह फुटबॉल खेलती है.

सुमति का चयन भारत में होने वाले अंडर 17 वर्ल्ड कप के लिए भी कर लिया गया था लेकिन कोरोना की वजह से यह टूर्नामेंट नहीं हो पाया बावजूद इसके सुमति अपने प्रदर्शन के बूते नेशनल कैंप का हिस्सा बनी रही और आज महज 18 साल की उम्र में ही झारखंड की सुमति कुमारी सीनियर भारतीय महिला फुटबॉल टीम का हिस्सा बन चुकी है.

Tags: Indian Football Team, Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर