• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के करीबी सुनील तिवारी यूपी के सैफई से गिरफ्तार, यौन शोषण के मामले में चल रहे थे फरार

पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के करीबी सुनील तिवारी यूपी के सैफई से गिरफ्तार, यौन शोषण के मामले में चल रहे थे फरार

सुनील तिवारी पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के करीबी माने जाते हैं.

सुनील तिवारी पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के करीबी माने जाते हैं.

Ranchi News: सुनील तिवारी के खिलाफ रांची के अरगोड़ा थाने में गत 16 अगस्त को यौन शोषण, छेड़खानी और एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था. खूंटी की रहने वाली युवती ने उन पर मामला दर्ज कराया था. तब से वह फरार चल रहे थे.

  • Share this:

रांची. यौन शोषण और बाल मजदूरी के आरोप में गिरफ्तार सुनील तिवारी की तबीयत गिरफ्तारी के बाद बिगड़ गई. उन्हें सीने में दर्द की शिकायत पर उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. सुनील तिवारी को रांची की अरगोड़ा पुलिस ने यूपी के सैफई से रविवार सुबह गिरफ्तार किया. सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सुनील तिवारी पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) के करीबी माने जाते हैं.

सुनील तिवारी पर यौन शोषण और बाल मजदूरी से जुड़े मामले में रांची के अरगोड़ा थाने में केस दर्ज हुआ था. उसके बाद से ही वह फरार चल रहे थे. कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी कर रखा था. उनकी अग्रिम जमानत की याचिका भी खारिज कर दी गई. रांची पुलिस की कई टीमें सुनील तिवारी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही थी.

पुलिस को यह गुप्त जानकारी मिली कि सुनील तिवारी इटावा के सैफई में अपने एक मित्र के यहां छिपकर रहे हैं. रांची पुलिस ने रविवार सुबह छापेमारी कर सुनील तिवारी को वहां से गिरफ्तार कर लिया.

तिवारी पर अरगोड़ा थाने में गत 16 अगस्त को यौन शोषण, छेड़खानी और एससी-एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी. खूंटी की रहने वाली युवती ने उनपर मामला दर्ज कराया था. इधर रांची से परिवार के सदस्य सैफई के लिए निकल चुके हैं. सुनील तिवारी की गिरफ्तारी के बाद तबीयत बिगड़ने की सूचना पुलिस के द्वारा परिवारवालों को दी गई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज