तबलीगी जमात से जुड़े 17 विदेशी जेल से निकले बाहर, लेकिन इस वजह से नहीं लौट पाएंगे वतन
Ranchi News in Hindi

तबलीगी जमात से जुड़े 17 विदेशी जेल से निकले बाहर, लेकिन इस वजह से नहीं लौट पाएंगे वतन
रांची में तबलीगी जमात से जुड़े 12 विदेशियों को जेल से रिहा कर दिया गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

रांची (Ranchi) के हिंदपीढ़ी इलाके में स्थित बड़ी मस्जिद और मदीना मस्जिद से 30 मार्च को 17 विदेशी नागरिकों (Foreign Nationals) की गिरफ्तारी (Arrest) हुई थी. जिसके बाद इनसभी को होटवार जेल भेज दिया गया था.

  • Share this:
रांची. वीजा उल्लंघन (Visa Violation) मामले में राजधानी रांची (Ranchi) के हिंदपीढ़ी इलाके से गिरफ्तार तबलीगी जमात (Tabligi Jamaat) से जुड़े 17 विदेशी नागरिकों (Foreign Nationals) को जेल से रिहा कर दिया गया. ये सभी रांची के होटवार जेल में बंद थे. मंगलवार को इन्हें रिहा कर दिया गया. इन सभी विदेशियों पर वीजा नियम और लॉकडाउन की शर्तों के उल्लंघन का आरोप है. निचली अदालत से बेल पीटिशन रिजेक्ट होने के बाद झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High court) से इन्हें पिछले दिनों जमानत (Bail) मिली थी.

रांची के हिंदपीढ़ी इलाके में स्थित बड़ी मस्जिद और मदीना मस्जिद से 30 मार्च को 17 विदेशी नागरिकों की गिरफ्तारी हुई थी. जिसके बाद इनसभी को होटवार जेल भेज दिया गया था. ये सभी तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं. और धार्मिक प्रचार के सिलसिले में झारखंड पहुंचे थे. 17 में से 9 लोगों को 12 मई को और बारी 8 को 20 मई को जेल भेजा गया था.

इस वजह से नहीं लौट पाएंगे वतन 



हालांकि अब जेल से रिहा होने के बाबजूद भी ये लोग अपने वतन फिलहाल नहीं लौट पायेंगे. न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने तक इनलोगों को रांची में ही रहने को कहा गया है. रिहा होने वालों में 13 पुरुष और चार महिलाएं शामिल हैं. इनमें यूके निवासी काजी दिलवर हुसैन, जाहिद कबीर, महासिन अहमद, शिपहान हुसैन, वेस्टइंडीज निवासी फारूक अल्बर्ट खान, मलेशिया निवासी नौर रशीदा, शीती आयशा, नौर हयाती, खान, हॉलैंड के मो. सैफुल इस्लाम, त्रिनिदाद के नदीम खान, जांबिया के मूसा जालाब, फरमिंग सेसे,  मलेशिया की सिति आयशा बिनती, नूर रशीदा बिनती, नूर हयाती बिनती अहमद, नूर कमरूजामा, महाजीर बीन खामीस, मो. शफीक एवं मो. अजीम शामिल हैं.
मलेशियाई महिला थी झारखंड की पहली कोरोना मरीज 

इनमें से एक मलेशियाई महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी. जिसको रिम्स में भर्ती कर इलाज कराया गया था. यह महिला झारखंड की पहली कोरोना मरीज थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading