Home /News /jharkhand /

झारखंड में टाटा से टसल तेज! कैंसर हॉस्पिटल के लिए दी गई जमीन स्वास्थ्य मंत्री ने मांगी वापस

झारखंड में टाटा से टसल तेज! कैंसर हॉस्पिटल के लिए दी गई जमीन स्वास्थ्य मंत्री ने मांगी वापस

झारखंड में टाटा वर्सेस सत्तापक्ष की लड़ाई तेज होती जा रही है.

झारखंड में टाटा वर्सेस सत्तापक्ष की लड़ाई तेज होती जा रही है.

TaTa vs Jharkhand Govt: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि रांची में कैंसर हॉस्पिटल खोलने के लिए टाटा कंपनी को करीब 24 एकड़ जमीन दी गयी है, लेकिन वह मात्र चार एकड़ जमीन पर ही 89 बेड का अस्पताल निर्माण करा रही है. ऐसे में खाली जमीन को सरकार को वापस कर देना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड की राजधानी रांची में टाटा कैंसर अस्पताल निर्माणाधीन है. राज्य का यह पहला कैंसर हॉस्पिटल है. 302 बेड के इस अस्पताल के संचालन में टाटा कैंसर हॉस्पिटल कोलकाता और भुवनेश्वर के एक्सपर्ट भी सहयोग करेंगे. महज 2 महीने बाद 26 जनवरी को इसका उद्घाटन होना तय माना जा रहा है. संभवतः अगले साल मार्च से इसमें ओपीडी सेवा शुरू हो जाएगी. अब इस अस्पताल को लेकर सियासत शुरू हो गई है.

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता की नजर अब अस्पताल की जमीन पर टिक गयी हैं. उन्हें अस्पताल को आवंटित 23.5 एकड़ जमीन नाजायज लगने लगी है. लिहाजा उन्होंने विभागीय सचिव को जमीन आवंटन की समीक्षा करने का निर्देश दिया है.

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कैंसर हॉस्पिटल खोलने के लिए टाटा कंपनी को करीब 24 एकड़ जमीन दी गयी है, लेकिन वह मात्र चार एकड़ जमीन पर ही 89 बेड का अस्पताल निर्माण कर रही है. हम चाहते हैं कि जो खाली जमीन बची हुई है उस पर और ज्यादा से ज्यादा यानी 300 बेड के अस्पताल का निर्माण हो ताकि झारखंड के लोगों को कहीं दूसरे जगहों पर जाकर इलाज न करना पड़े. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जो जमीन खाली बची हुई है उसे टाटा सरकार को वापस कर दे. इसको लेकर उन्होंने सरकार को पत्र लिखा है.

स्वास्थ्य मंत्री इस पहल पर राजनीतिक विरोध शुरु हो गया है. पूर्व सीएम रघुवर दास सहित अन्य नेताओं स्वास्थ्य मंत्री की मंशा पर सवाल उठाया है. बता दें कि कैंसर अस्पताल को लेकर झारखंड सरकार और टाटा कंपनी में एमओयू हुआ था. इसके तहत टाटा ट्रस्ट को रांची के रिनपास परिसर में 23.5 एकड़ जमीन एक रुपये की टोकन मनी पर लीज पर दी गई है. इस जमीन पर टाटा सरकार के सहयोग से कैंसर अस्पताल का निर्माण करा रही है.

10 नवंबर 2018 को रिनपास परिसर कांके में तत्कालीन सीएम रघुवर दास और टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा की उपस्थिति में कैंसर अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर का शिलान्यास किया गया था. उस दौरान रतन टाटा ने कहा था कि रांची का कैंसर हॉस्पिटल राज्य के लोगों के लिए संजीवनी साबित होगा. लेकिन अब इस पर सियासी बखेड़ा शुरू हो गया है.

बता दें कि टाटा कंपनी अपनी दो इकाइयों के कॉरपोरेट ऑफिस को जमशेदपुर से पुणे शिफ्ट करने की तैयारी में है. इसको लेकर जेएमएम का आंदोलन जारी है. सरकार भी टाटा के इस फैसले से नाराज चल रही है.

Tags: Jharkhand news, Tata

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर