अपहृत नाबालिग ने बरामदगी के बाद सामूहिक दुष्कर्म की बात बताई तो पुलिस के उड़े होश

पीड़िता नाबालिग ने अपने बयान में सुखदेव नगर निवासी तीन लोगों के नाम लेते हुए कहा कि इनके साथ अन्य 4 लोग उसे ये बोलकर ले गए कि तुम्हारे भाई का एक्सीडेंट हो गया और वो बेहोश है. इसके बाद उसे बोलेरो में जबरन बैठाकर एक कमरे में ले गए. फिर उसके साथ सभी 7 युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया.

0m Prakash | News18 Jharkhand
Updated: February 12, 2019, 11:55 PM IST
अपहृत नाबालिग ने बरामदगी के बाद सामूहिक दुष्कर्म की बात बताई तो पुलिस के उड़े होश
अरगोड़ा थाना, रांची
0m Prakash | News18 Jharkhand
Updated: February 12, 2019, 11:55 PM IST
झारखंड की राजधानी रांची के अरगोड़ा थाना क्षेत्र में नाबालिग लड़की के अपहरण की गुत्थी पुलिस ने सुलझाते हुए बिहार के गया से उसको बरामद कर लिया. बरामदगी के बाद पीड़िता के दिए बयान और खुलासे के बाद पुलिस के भी हाथ पांव फुला दिए हैं. नाबालिग ने मीडिया को दिए अपने बयान में बताया है कि अपहरणकर्ताओं ने उसके साथ गैंग रेप भी किया और पीड़िता के परिचित से धमकी देकर शादी भी करा दी.

पीड़िता नाबालिग ने अपने बयान में सुखदेव नगर निवासी तीन लोगों के नाम लेते हुए कहा कि  इनके साथ अन्य 4 लोग उसे ये बोलकर ले गए कि तुम्हारे भाई का एक्सीडेंट हो गया और वो बेहोश है. इसके बाद उसे बोलेरो में जबरन बैठाकर एक कमरे में ले गए. फिर उसके साथ सभी 7 युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया. नाबालिग ने  उन युवकों ने उसकी शादी भी उसके ही जान पहचान वाले लड़के से जबरन कराई और उसे गया भेज दिया, जहां से पुलिस उसे रांची लेकर पहुंची.

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार युवती ने कोर्ट में दिए बयान में रेप की बात कही है लेकिन सामूहिक दुष्कर्म की बात उसने नहीं कही. फिलहाल युवती के बयान के बाद पुलिस महकमा मामले की जांच में जुट गया है. जिस लड़के से पीड़िता की जबरन शादी कराई गई वो भी अभी रांची में नहीं है. मामले में पुलिस ने पीड़िता का कोर्ट में 164 का बयान दर्ज कराया है.



यह भी पढ़ें - पिता को जिस कांग्रेस ने किया प्रताड़ित, बेटा सत्ता के लिए उससे कर रहा गठबंधन: रघुवर दास

यह भी पढ़ें - झारखंड में 70 हजार पुलिसकर्मियों का आंदोलन शुरू, काला बिल्ला लगाकर कर रहे काम
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर