Home /News /jharkhand /

मनमानी कीमत पर बिक रही है राजधानी में शराब

मनमानी कीमत पर बिक रही है राजधानी में शराब

राजधानी रांची में खुलेआम मनमाने कीमतों शराब बेची जा रही है, हालांकि विभागीय अधिकारी द्वारा एमआरपी पर शराब बेचने का निर्देश दिया गया था। इसके बावजूद इसका कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। दुकानदार टैक्स का हवाला देते हुए ग्राहकों से मनमाफिक पैसे वसूल रहे हैं, जिस पर कार्रवाई करने वाला कोई नहीं है।

राजधानी रांची में खुलेआम मनमाने कीमतों शराब बेची जा रही है, हालांकि विभागीय अधिकारी द्वारा एमआरपी पर शराब बेचने का निर्देश दिया गया था। इसके बावजूद इसका कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। दुकानदार टैक्स का हवाला देते हुए ग्राहकों से मनमाफिक पैसे वसूल रहे हैं, जिस पर कार्रवाई करने वाला कोई नहीं है।

राजधानी रांची में खुलेआम मनमाने कीमतों शराब बेची जा रही है, हालांकि विभागीय अधिकारी द्वारा एमआरपी पर शराब बेचने का निर्देश दिया गया था। इसके बावजूद इसका कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। दुकानदार टैक्स का हवाला देते हुए ग्राहकों से मनमाफिक पैसे वसूल रहे हैं, जिस पर कार्रवाई करने वाला कोई नहीं है।

अधिक पढ़ें ...
राजधानी रांची में खुलेआम मनमाने कीमतों शराब बेची जा रही है, हालांकि विभागीय अधिकारी द्वारा एमआरपी पर शराब बेचने का निर्देश दिया गया था। इसके बावजूद इसका कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। दुकानदार टैक्स का हवाला देते हुए ग्राहकों से मनमाफिक पैसे वसूल रहे हैं, जिस पर कार्रवाई करने वाला कोई नहीं है।

आप अगर शराब पीने के शौकीन हैं, तो रांची में आपको एमआरपी से ज्यादा कीमतों में शराब खरीदनी पड़ेगी। जी हां इन दिनों राजधानी के शराब विक्रेता अपनी मर्जी के मालिक हैं शराब की कीमत वो खुद तय करते हैं। बोतलों पर लगे लेबल को गलत साबित कर जितनी मर्जी उतनी कीमत ग्राहकों से वसूल करते हैं। ग्रहकों के पूछे जाने पर दुकानदार टैक्स का हवाला देते हैं।

इस बारे में जब ईटीवी रिपोर्टर ने  दुकानों में इसकी पड़ताल की तो कई दुकानदार दुकान छोड़ भाग खड़े हुए और कई बदतमीजी पर उतर आए। आखिरकार एक दुकानदार ने कीमतों पर बोलना शुरू किया और पुरे मामले को टैक्स और वैट का हवाला देते हुए कहा की ये सरकार का आदेश है।

विभागीय अधिकारियों के मुताबिक, सूबे में शराब एमआरपी पर बिके इसके निर्देश वो कई बार जारी कर चुके हैं और जो भी दुकानदार मनमाने तरीके से कीमत लगाएगा उसका लाइसेंस रद्द किया जाएगा, लेकिन आजतक किसी भी दुकानदार पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं जब झारखंड वाइन एसोसिएशन के सचिव से बात की गई तो उन्होंने भी दुकानदारों की टैक्स वाली दलील को गलत ठहराया और लोगों को एमाआरपी पर ही शराब खरीदने की नसीहत दी।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर