ये हैं वो पांच वजह, जिससे RJD नेता को उम्मीद कि नीतीश कुमार मारेंगे पलटी !

रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि पिछले दिनों के पांच घटनाक्रम से लगता है कि नीतीश कुमार का मन एनडीए में नहीं लग रहा है.

Upendra Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 13, 2019, 5:06 AM IST
ये हैं वो पांच वजह, जिससे RJD नेता को उम्मीद कि नीतीश कुमार मारेंगे पलटी !
नीतीश कुमार-लालू यादव (फाइल फोटो)
Upendra Kumar
Upendra Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 13, 2019, 5:06 AM IST
राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेताओं को लगता है कि इन दिनों बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दिल एनडीए में नहीं लग रहा है और वह किसी भी समय एनडीए को छोड़ने का फैसला ले सकते हैं. आरजेडी और यूपीए के नेताओं को ऐसा क्यों लगता है, इसका खुलासा आरजेडी के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने रांची में किया.

रिम्स अस्पताल में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद से शनिवार को मुलाकात करने आए रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि पार्टी को मजबूत कर पटना और दिल्ली को हिलाना है.



वह पांच कारण जिससे आरजेडी को लगता है कि नीतीश कुमार छोड़ेंगे एनडीए !
रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि पिछले दिनों के पांच घटनाक्रम से लगता है कि नीतीश कुमार का मन एनडीए में नहीं लग रहा है. आरजेडी नेता के अनुसार मोदी मंत्रिमंडल में जेडीयू के तीन सांसदों को कैबिनेट मंत्री नहीं बनाने, नीतीश कुमार द्वारा अपने मंत्रिमंडल विस्तार में बीजेपी को नजरअंदाज करना, तीन तलाक जैसे मामले में नीतीश की अलग राह, तेजस्वी के आवास मामले में नीतीश कुमार द्वारा

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को नजरअंदाज कर क्लीन चिट देना और नीतीश कुमार का पलटी मारने जैसे पांच कारणों से लगता है कि नीतीश कुमार एनडीए छोड़ देंगे.

गैर बीजेपी को एकजुट करने के लिए नीतीश के लिए भी रास्ता खुला
रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि गैर बीजेपी दलों को एकजुट कर देश को बचाने की राह पर आरजेडी चल रहा है. आरजेडी नेता ने माना कि नीतीश कुमार के द्वारा घात किए जाने के बावजूद राजनीति में मूल उद्देश्य को देखना पड़ता है और इस मुद्दे पर तेजस्वी की राय अलग हो सकती है पर जो पार्टी का निर्णय होगा उसे सब मानेंगे.
Loading...

आरजेडी नेता ने पार्टी के महाधिवेशन में दिए गए शिवानंद तिवारी के भाषण को बोलने की आजादी बताते हुए कहा कि सभी लोग अपनी अपनी राय पार्टी में रखते हैं पर जो पार्टी फैसला करती है उसे सब मानते हैं.

ये भी पढ़ें-

बेल के बावजूद जेल में रहेंगे लालू यादव, ये है पेंच

रांची: मेले में मानव भ्रूण का प्रदर्शन, 3 गिरफ्तार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...