झारखंड में वज्रपात का कहर, दो दिनों में 24 लोगों की मौत

इनमें 11 मौतें मंगलवार को हुई, जबकि 13 बुधवार को. जामताड़ा, रामगढ़, दुमका, पाकुड़, पलामू, लातेहार और रांची जिलों में लोग वज्रपात के शिकार हुए. 8 लोग घायल हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

News18 Jharkhand
Updated: July 24, 2019, 8:40 PM IST
झारखंड में वज्रपात का कहर, दो दिनों में 24 लोगों की मौत
झारखंड में पिछले दो दिनों में वज्रपात से 24 लोगों की मौत (सांकेतिक तस्वीर)
News18 Jharkhand
Updated: July 24, 2019, 8:40 PM IST
झारखंड में पिछले दो दिनों में वज्रपात से 24 लोगों की जान चली गई. 11 मौतें मंगलवार को हुई, जबकि 13 बुधवार को. जामताड़ा, रामगढ़, दुमका, पाकुड़, पलामू, लातेहार और रांची जिलों में लोग वज्रपात के शिकार हुए. 8 लोग घायल हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

वज्रपात का कहर

बुधवार को जामताड़ा में ठनका से 5 युवक की मौत हो गई, जबकि रामगढ़ में दो लोगों ने इसकी चपेट में आकर जान गवां दी. दुमका में भी वज्रपात ने दो जिंदगियां छीन लीं. पाकुड़ में दो महिला मजदूर की मौत हो गई. रांची के चान्हो में भी दो लोगों की मौत हुई. विभिन्न जिलों में वज्रपात से अब तक 8 से अधिक लोग झुलस गये हैं, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. मंगलवार को लातेहार में कुल 6 लोगों की मौत हो गई. वहीं पलामू के छतरपुर में 10 मवेशियों की जान चली गई.

लातेहार और जामताड़ में सबसे ज्यादा मौतें (सांकेतिक तस्वीर)


रामगढ़- चतरा में 7 मौतें

रामगढ में वज्रपात की चपेट में आने से चुरामन महतो और पंकज महतो की मौत घटनास्थल पर ही हो गई. जबकि दो अन्य घायलों को रिम्स रेफर किया गया. ये लोग बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिप गये थे. उसी दौरान ठनका गिर गया.

चतरा में ठनका से पिछले दो दिनों में पांच लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा कई पशुओं की भी जान चली गई. मृतकों में तीन महिला एवं दो पुरुष शामिल हैं. दो व्यक्ति जख्मी हुए हैं. दोनों की स्थिति गंभीर बनी हुई है. प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल से घायलों को रिम्स रेफर किया गया है.
Loading...

(ब्यूरो रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें- मानसून सत्र: वन कानून पर हंगामे के बीच सदन में लगे जय सरना व जय श्रीराम के नारे

रुपये नहीं दिये तो ट्रॉलीमैन ने निकाल दी ऑक्सीजन की पाइप, मरीज की मौत

 
First published: July 24, 2019, 7:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...