नौकरी देने में कीर्तिमान, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ झारखंड का नाम

News18 Jharkhand
Updated: September 5, 2019, 6:09 PM IST
नौकरी देने में कीर्तिमान, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ झारखंड का नाम
एक साथ 26 हजार नौकरी देने के लिए झारखंड का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज

12 जनवरी 2018 को रांची के खेलगांव में आयोजित एक कार्यक्रम में 26674 युवाओं को नौकरी दी गई थी. एक साथ इतनी बड़ी संख्या में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए झारखंड को ये सम्मान मिला है.

  • Share this:
रांची. झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन सोसायटी द्वारा 2018 में राष्ट्रीय युवा दिवस पर 26674 युवक-युवतियों को एकसाथ रोजगार उपलब्ध कराए जाने को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड (Limca Book of Records) में दर्ज किया गया है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी. उन्होंने कहा कि यह राज्यवासियों के लिए गर्व की बात है. यह सम्मान झारखंड को देश के विकसित राज्यों की श्रेणी में शामिल होने के लिए प्रेरित करेगा.

करीब दो लाख युवाओं को मिला रोजगार

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2019 में राष्ट्रीय युवा दिवस पर एक लाख 6 हजार 619 युवाओं को रोजगार दिया गया. अब तक दो सालों में विभिन्न विभागों के द्वारा कौशल विकास के माध्यम से एक लाख 90 हजार लोगों को रोजगार दिया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा टीम झारखंड रोज नए विश्व कीर्तिमान बना रहा है. यह सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति और प्रतिबद्धता का परिणाम है.

युवा शक्ति को सशक्त बनाना लक्ष्य

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि युवा शक्ति को रोजगार देकर आर्थिक रूप से सशक्त बनाना राज्य सरकार लक्ष्य है. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना से बेरोजगार युवक-युवतियों को हुनरमंद बनाकर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है. युवा शक्ति को विकसित करके ही नए झारखंड की कल्पना पूरी की जा सकेगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोमेंटम झारखंड के तहत राज्य में उद्योग स्थापित हो रहे हैं. राज्य में जितने उद्योग बढ़ते जाएंगे, उतने ही रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे. आने वाले कुछ वर्षों में राज्य में हो रहे पलायन को पूर्ण रूप से रोकना सरकार का लक्ष्य है.

बता दें कि 12 जनवरी 2018 को रांची के खेलगांव में आयोजित एक कार्यक्रम में 26674 युवाओं को नौकरी दी गई थी. एक साथ इतनी बड़ी संख्या में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए झारखंड स्किल डेवलपमेंट मिशन सोसायटी द्वारा राज्य में कुल 38 प्लेसमेंट सेंटर स्थापित किए गए थे. वहीं 221 प्लेसमेंट ड्राइव भी चलाए गए थे. इस प्लेसमेंट महाकुंभ में 56423 युवक- युवतियों ने नौकरी के लिए आवेदन किया था.
Loading...

इनपुट- दिवाकर तिवारी

ये भी पढ़ें- बाबूलाल से मुलाकात के बाद बोले हेमंत- महागठबंधन में नहीं है कोई पेंच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 6:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...