Home /News /jharkhand /

unique process of improvement in ranchi remand home raids as well as competition organized nodaa

रांची के बाल सुधार गृह में सुधार की अनोखी प्रक्रिया, छापेमारी के साथ-साथ प्रतियोगिता भी आयोजित

रांची के बाल सुधार गृह में सुरक्षा व्यवस्था और पुख्ता कर दी गई है, साथ ही वहां रह रहे बच्चों के व्यवहार में सुधार के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं.

रांची के बाल सुधार गृह में सुरक्षा व्यवस्था और पुख्ता कर दी गई है, साथ ही वहां रह रहे बच्चों के व्यवहार में सुधार के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं.

Ranchi Remand Home: कर्नल जेके सिंह के मुताबिक, सैप बटालियन 2 और बाल सुधार गृह में तैनात करीब 40 पुलिस के जवानों ने ये छापेमारी की है. उन्होंने कहा कि अब बाल सुधार गृह की सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी हो गई है. सभी सुरक्षाकर्मियों की यही कोशिश है कि बाल सुधार गृह में कुछ गलत न हो. दरअसल, इन बच्चों के माता पिता को बाल सुधार गृह से काफी उम्मीदें होती हैं.

अधिक पढ़ें ...

रांची. रांची के बाल सुधार गृह में मंगलवार को निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया और छापेमारी भी की गई. यह जानकारी कर्नल जेके सिंह ने दी. उन्होंने बताया कि 3 घंटे तक चली छापेमारी के दौरान 1 पावर बैंक और मोबाइल फोन बरामद किया गया. जबकि निबंध प्रतियोगिता में 100 की संख्या में बच्चों ने भाग लिया जिनमें से श्रेष्ठ 3 लेखों के लिए 3 बच्चे पुरस्कृत किए गए. बाकी बच्चों के बीच चॉकलेट बांटे गए.

कर्नल जेके सिंह के मुताबिक, सैप बटालियन 2 और बाल सुधार गृह में तैनात करीब 40 पुलिस के जवानों ने ये छापेमारी की है. उन्होंने कहा कि अब बाल सुधार गृह की सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी हो गई है. सभी सुरक्षाकर्मियों की यही कोशिश है कि बाल सुधार गृह में कुछ गलत न हो. दरअसल, इन बच्चों के माता पिता को बाल सुधार गृह से काफी उम्मीदें होती हैं. उन्हें उम्मीद होती है कि जब उनके बच्चे यहां से निकलेंगे तो उनके व्यवहार में कुछ सुधार हो चुका होगा. इसलिए हमारी पूरी कोशिश है कि बच्चे के व्यवहार में, उसके विचार में सुधार हो. उन्होंने कहा कि बच्चों में भी उत्साह है और वे कुछ अच्छा करना चाहते हैं. यहां बढ़ाई गई की चौकसी की वजह से अब बाल सुधार गृह का मौसम बदल रहा है.

निबंध प्रतियोगिता

कर्नल जेके सिंह ने बताया कि बच्चों को प्रेरित करने के लिए और उनमें एक सकारात्मक विचार लाने के लिए निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. बाल अपराध कैसे रोका जाए, नशा छोड़ना क्यों जरूरी है – इन दो विषयों पर बच्चों ने निबंध लिखा. इस प्रतियोगिता में करीब 100 बच्चों ने हिस्सा लिया. प्रतियोगिता में टॉप करने वाले 3 बच्चे पुरस्कृत किए गए, जबकि प्रतिभागियों के बीच चॉकलेट बांटा गया.

छापेमारी

कर्नल जेके सिंह के मुताबिक, हमारी टीम यहां निरंतर छापेमारी कर रही थी. पहले यहां से भारी संख्या में मोबाइल फोन बरामद होते थे, लेकिन इस बार की छापेमारी में केवल एक मोबाइल फोन और एक पावर बैंक मिला. यह इस बात का संकेत देती है कि सुधार गृह के बच्चों में धीरे-धीरे बदलाव देखने को मिल रहा है. यह सकारात्मक संकेत है.

Tags: Children, Juvenile home, Ranchi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर