• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • झारखंड का एक ऐसा गांव, जिसका नाम ही पड़ गया पीएम आवास ग्राम 

झारखंड का एक ऐसा गांव, जिसका नाम ही पड़ गया पीएम आवास ग्राम 

पीएम आवास योजना ने रांची के पंडरा गांव की पहचान बदल दी है.

पीएम आवास योजना ने रांची के पंडरा गांव की पहचान बदल दी है.

Pradhan Mantri Awas Yojana: रांची जिले के बेड़ो प्रखण्ड के इस गांव में आज से तीन साल पहले तक एक भी पक्का मकान नहीं था. पर आज ऐसा कोई घर नहीं है जो प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का का ना हो.

  • Share this:
रांची. झारखंड में सरकार की विकास योजना ने एक गांव की पहचान ही बदल दी है. अब ये गांव प्रधानमंत्री आवास ग्राम के तौर पर पूरे झारखंड अपना नाम रौशन कर रहा है. आपको जानकर ये हैरानी होगी कि रांची जिले का ये पहला ऐसा गांव है, जहां शत प्रतिशत आवास प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) के तहत बनाये गए हैं.

सरकारी योजना की सफलता को लेकर हमेशा ही सवाल उठते रहते हैं. सरकारों पर ये आरोप लगते रहे हैं कि योजनाएं घोषणाओं के अनुरूप धरातल पर नहीं उतरे जाते. लेकिन ये पूरा सच नहीं है. खासकर रांची के पंडरा गांव को देखने के बाद तो कतई नहीं. रांची जिले के बेड़ो प्रखण्ड के इस गांव में आज से तीन साल पहले तक एक भी पक्का मकान नहीं था. पर आज ऐसा कोई घर नहीं है जो प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का का ना हो.

गांव के कृष्णा और शिबू गोप बताते हैं कि पहले दूसरों के पक्का मकान को देखकर सोचते थे कि कब अपना भी ऐसा घर होगा. लेकिन आज प्रधानमंत्री ने उनके सपने को साकार कर दिया है.

हर किसी का सपना खुद के आशियाने का होता है. मिट्टी के आशियाने को मौसम की मार से बचा पाना हर गरीब के बस की बात नहीं. गांव की मंजू सिन्हा बताती हैं कि कभी मिट्टी की दीवार बारिश में ढह जाती है, तो कभी छप्पड़ से बारिश की बूंदें टपकने लगती हैं. ऐसे में पक्का मकान ही गरीब परिवार को ऐसे तमाम तरह की परेशानियों से छुटकारा दिला सकता है. पंडरा के ग्रामीणों के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. आज प्रधानमंत्री आवास योजना से नया आशियाना मिल जाने से लोग चैन की नींद सो रहे है. गांव के प्रकाश यादव जैसे नौजवान का रोजगार भी इसी आशियाने के एक कमरे से चल रहा है.

पंडरा में ये बदलाव 2017 से शुरू हुए प्रयास का नतीजा है. बेड़ो के BDO प्रवीण कुमार के मुताबिक गांव में अब तक 59 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना और एक व्यक्ति को अम्बेडकर आवास का लाभ दिया जा चुका है. 42 आवास पूर्ण होने के बाद लाभुक सपरिवार इस योजना का लाभ उठा रहे है. जबकि 18 लाभुकों के आवास का कार्य प्रगति पर है. योजना की इस सफलता में अधिकारियों की बहुत बड़ी भूमिका रही.

कच्चे मकानों में रहने वाले लोगों को पक्का मकान देने का वायदा पंडरा में साकार हो चुका है. प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीबों के उस सपने को साकार कर दिखाया है, जो शायद उनके लिए अपने बूते मुमकिन नहीं था. हालांकि अभी भी दूसरे गांव के कई गरीबों को पक्के मकान का इंतजार है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज