झारखंडः रांची के 50 से ज्यादा मुहल्लों में आज नहीं पहुंचा पानी, पंप हाउस में सफाई से बंद रही सप्लाई

बूटी पंप हाउस में सफाई कार्य की वजह से कई कॉलोनियों में नहीं हुई जलापूर्ति.

बूटी पंप हाउस में सफाई कार्य की वजह से कई कॉलोनियों में नहीं हुई जलापूर्ति.

रांची के बूटी पंप हाउस (Pump House) में करीब एक साल के बाद आज सफाई अभियान चला, जिसकी वजह से शहर की आधी से अधिक आबादी को सुबह के समय जलापूर्ति (Water Supply) नहीं की गई. कांटाटोली, नामकुम, टाटीसिल्वे, इरबा समेत कई इलाकों के घरों में नहीं पहुंचा पानी.

  • Share this:

रांची. झारखंड की राजधानी रांची (Ranchi) में आज सुबह 50 से अधिक कॉलोनियों में जलापूर्ति (Water Supply) नहीं की जा सकी. कांटाटोली, नामकुम, टाटीसिल्वे, इरबा आदि इलाकों के हजारों घरों में सुबह से लेकर कई घंटों तक सप्लाई का पानी नहीं पहुंचा, जिससे आम लोगों का जीवन प्रभावित हुआ. इसकी वजह बूटी पंप हाउस (Booty Pump House) में सफाई अभियान बताया गया. हालांकि विभाग ने इस बारे में पहले ही बता दिया था कि 2 जनवरी की सुबह बूटी पंप हाउस में मेंटेनेंस और सफाई (Cleanliness drive) का काम होगा, जिसके कारण लगभग आधे शहर की आबादी को ये परेशानी झेलनी पड़ी. आपको बता दें कि पंप हाउस में सफाई का यह काम करीब एक साल के बाद किया गया.

न्यूज 18 की टीम जब मौके पर पहुंची तो पीएचईडी विभाग के कार्यपालक अभियंता समेत तमाम अधिकारी पंप हाउस पर मौजूद थे. साफ-सफाई का काम आखिर एक साल बाद क्यों और पानी की गुणवत्ता के मानक संबंधी सवाल पर कार्यपालक अभियंता भड़क उठे. उन्होंने इसके लिए सीधे ठेकेदार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पिछले एक साल से रुक्का से बूटी जलापूर्ति केंद्र पाइपलाइन की साफ-सफाई और मेंटेनेंस की जिम्मेदारी विश्वराज एनवायरमेंट प्राइवेट लिमिटेड नाम की आउटसोर्सिंग कंपनी को दे दी गई है. क्वालिटी वॉटर के सवाल पर उन्होंने कहा कि जो पानी घरों में भेजा जा रहा है,उसका मानक 3 Turbidity के करीब है.

आपको बता दें कि Turbidity पानी की गुणवत्ता मापने का पैमाना है. 3 Turbidity का मतलब पानी मानक पर खरा नहीं है. अभियंता ने बताया कि बूटी जलापूर्ति केंद्र के 4 पंप हाउस में साफ सफाई और मेंटेनेंस का काम हो रहा है. चारों पंप की क्षमता 27 लाख गैलन की है. पीएचईडी विभाग के कार्यपालक अभियंता कुमार नीरज ने बताया कि अब सभी जिम्मेदारी आउटसोर्सिंग कंपनी की है. कंपनी को ही समय-समय पर पंप हाउस की साफ सफाई करनी चाहिए.

इधर, आउटसोर्सिंग कंपनी के साइड इंचार्ज से जब इस बारे में न्यूज 18 ने सवाल किया तो कंपनी के ठेकेदार सफाई देने लगे. ठेकेदार ने कहा कि पंप हाउस की मेंटेनेंस का काम लगातार किया जा रहा है. बता दें कि बूटी जलापूर्ति केंद्र के चारों पंप हाउस की सफाई के बाद बूटी पहाड़ जलागार के दोनों पंप हाउस की सफाई की जाएगी. इधर जलापूर्ति बाधित रहने से कांटा टोली के कई मोहल्लों में लोग काफी परेशान नजर आए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज