जब धोनी ने बैट से नहीं व्यवहार से जीत लिया था रांचीवासियों का दिल

राज्य क्रिकेट एसोसिएशन ने जब उनके नाम के पवेलियन के उद्घाटन के लिए धोनी से संपर्क किया, तो उन्होंने ये कहकर इनकार कर दिया कि अपने ही घर में क्या उद्घाटन करना. उद्घाटन किया तो लगेगा कि इस ग्राउंड का हिस्सा नहीं हूं.

News18 Jharkhand
Updated: July 3, 2019, 7:34 PM IST
जब धोनी ने बैट से नहीं व्यवहार से जीत लिया था रांचीवासियों का दिल
राज्य क्रिकेट एसोसिएशन ने जब उनके नाम के पवेलियन के उद्घाटन के लिए धोनी से संपर्क किया, तो उन्होंने ये कहकर इनकार कर दिया कि अपने ही घर में क्या उद्घाटन करना. उद्घाटन किया तो लगेगा कि इस ग्राउंड का हिस्सा नहीं हूं.
News18 Jharkhand
Updated: July 3, 2019, 7:34 PM IST
अपने माही यानि महेन्द्र सिंह धोनी के रिटायरमेंट की खबर से रांची समेत पूरे झारखंड में निराशा छा गई है. खासकर क्रिकेट फेन्स इस खबर के काफी आहत हैं. हालांकि झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (जेएससीए) ने शायद उनके रिटायरमेंट को पांच महीना पहले ही भांप लिया था. इसलिए उनके सम्मान में रांची के जेएससीए स्टेडियम में पवेलियन का नाम रखा गया.

पवेलियन का उद्घाटन करने से किया था इनकार

राज्य क्रिकेट एसोसिएशन ने जब उनके नाम के पवेलियन के उद्घाटन के लिए धोनी से संपर्क किया, तो उन्होंने ये कहकर इनकार कर दिया कि अपने ही घर में क्या उद्घाटन करना. उद्घाटन किया तो लगेगा कि इस ग्राउंड का हिस्सा नहीं हूं. ये वाकया इसी साल 8 मार्च को हुआ. 8 मार्च को जेएससीए स्टेडियम में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे मैच खेला गया. इस मैच में भले ही टीम इंडिया को हार मिली, लेकिन धोनी की इस शालिनता ने सबका दिल जीत लिया. यह मैच धोनी का होम ग्राउंड पर आखिरी मैच माना गया. लिहाजा इसे यादगार बनाने के लिए जेएससीए ने खास तैयारी की थी.

होम ग्राउंड पर कभी नहीं चला धोनी का बल्ला 

इस मैच के दौरान ही कयास तेज थे कि धोनी वर्ल्ड कप के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लेंगे. लिहाजा मैच को धोनी का होम ग्राउंड पर आखिरी मैच माना जा रहा था. हालांकि इस मैच में धोनी का बल्ला कुछ खास चला नहीं. इससे दर्शकों को थोड़ी निराशा जरूर हुई. लोग यह मान रहे थे कि धोनी होमग्राउंड के अंतिम मैच को यादगार बनाएंगे. वैसे होम ग्राउंड पर धोनी का रिकॉर्ड कभी अच्छा नहीं रहा. धोनी रांची में चार मैच खेले, लेकिन एक में भी वह बड़ी पारी नहीं खेल पाए. इस बात की कसक रांचीवासी को सदा रहेगी.

ये भी पढ़ें- MS Dhoni Retirement: महेंद्र सिंह धोनी ऐसे बने गोलकीपर से महान क्रिकेटर

VIDEO: धोनी के रिटायरमेंट की खबर से रांची में छाई निराशा
Loading...

 
First published: July 3, 2019, 7:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...