जेल में लालू यादव ने बागवानी से पहले दिन दिन कमाए 91 रुपये

एक वो वक्त था जब लालू प्रसाद बतौर सीएम पटना स्थित मुख्यमंत्री आवास में पशुपालन और बागबानी को लेकर चर्चा में रहते थे और एक ये वक्त है जब लालू ने रांची के होटवार जेल में माली का काम शुरु कर दिया है. दरअसल चारा घोटाले में साढ़े तीन वर्ष की सजा काट रहे लालू प्रसाद को होटवार जेल में बागबानी का काम मिला है.

Bhuwan Kishore Jha | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 12, 2018, 1:54 PM IST
जेल में लालू यादव ने बागवानी से पहले दिन दिन कमाए 91 रुपये
फाइल फोटो
Bhuwan Kishore Jha | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 12, 2018, 1:54 PM IST
एक वो वक्त था जब लालू प्रसाद बतौर सीएम पटना स्थित मुख्यमंत्री आवास में पशुपालन और बागबानी को लेकर चर्चा में रहते थे और एक ये वक्त है जब लालू ने रांची के होटवार जेल में माली का काम शुरु कर दिया है. दरअसल चारा घोटाले में साढ़े तीन वर्ष की सजा काट रहे लालू प्रसाद को होटवार जेल में बागबानी का काम मिला है.

गुरुवार को जेल प्रबंधन के आदेश पर लालू प्रसाद और आर के राणा ने सुबह 9 बजे वीआईपी कैदीवार्ड से निकलकर जेल परिसर में बागबानी का जिम्मा संभाला. जेल मैनुअल के अनुसार उन्हें हर दिन काम करने पर मजदूरी मिलेगी, वो होगा 91 रुपया. गुरुवार को जैसे ही लालू ने काम शुरु किया,  91 रुपये की कमाई पहले दिन हो गई. कुछ इसी तरह से ये सिलसिला आगे भी चलता रहेगा.

पहले दिन लालू ने जेल परिसर में लगे पौधों के बारे में बातचीत की. जेलकर्मियों से अपना अनुभव साझा किया. साफ-सफाई के अलावा मौसम के अनुसार सब्जी भी लगाने की बात कही. खेत में लोग कैसे काम करते हैं, उसपर भी लालू ने अपना अनुभव साझा किया. लालू के इस काम में आर के राणा का भी साथ मिला.

कभी सबसे करीबी माने जाने वाले आरके राणा से बीच में लालू की बातचीत बंद थी.  मगर चारा घोटाले में सजायाफ्ता होने के बाद जेल जाते ही बातचीत शुरु हो गई है. इन वीआईपी कैदियों के अलावा सजा काट रहे फूलचंद सिंह, बेक जुलियस जैसे पूर्व आईएएस जेल में दूरस्थ शिक्षा के अंतर्गत इंटर और बीए की पढ़ाई करने वाले कैदियों को शिक्षा देने का काम शुरु कर दिया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर