लाइव टीवी

5 ट्रिलियन डॉलर के ज़ीरो पूछ कर राजनीति के अर्श पर पहुंचे गौरव वल्लभ क्या रघुवर दास को फर्श पर ला सकेंगे?

Kinshuk Praval | News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 11:50 AM IST
5 ट्रिलियन डॉलर के ज़ीरो पूछ कर राजनीति के अर्श पर पहुंचे गौरव वल्लभ क्या रघुवर दास को फर्श पर ला सकेंगे?
गौरव वल्लभ झारखंड कांग्रेस की टिकट पर के मुख्यमंत्री रघुबर दास के खिलाफ मैदान में हैं.

गौरव वल्लभ ने क्रेडिट रिस्क मैनेजमेंट में डॉक्ट्रेट हासिल की है तो वहीं वो एलएलबी, सीए और सीएस भी कर चुके हैं. उनके शानदार एकैडमिक करियर को देखते हुए उन्हें कांग्रेस में बड़ी भूमिका मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 11:50 AM IST
  • Share this:
कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव वल्लभ को झारखंड विधानसभा चुनाव में उतारने का कांग्रेस ने फैसला किया है. गौरव वल्लभ को झारखंड में जमशेदपुर पूर्व की सीट से टिकट दिया गया है. उन्हें राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ मैदान में उतारा गया है. जमशेदपुर ईस्ट सीट से रघुवर दास पांच बार चुनाव जीत चुके हैं. लेकिन इस बार कांग्रेस ने रघुवर दास को कड़ी टक्कर देने के लिए गौरव वल्लभ को मैदान में उतारा है. काफी समय से गौरव वल्लभ को सक्रिय राजनीति में लाने की मांग की जा रही थी. वहीं झारखंड कांग्रेस का मानना था कि गौरव वल्लभ को राज्य की किसी महत्वपूर्ण सीट से चुनाव मैदान में उतारा जाए. इस वजह से अब मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ मैदान में उतरने से इस सीट पर मुकाबला बेहद रोमांचक हो गया है क्योंकि बीजेपी से रूठे सरयू राय जमशेदपुर ईस्ट सीट से निर्दलीय मैदान में हैं.

टीवी शो में राष्ट्रीय मुद्दों पर जमकर बहस होती है. सत्ता पक्ष और विपक्ष के राजनीतिक जानकारों और प्रवक्ताओं के बीच अपनी अपनी पार्टियों के बचाव में बड़े जुबानी हमले होते हैं. यही टीवी डिबेट नेताओं को लोकप्रिय भी बनाने का काम करती है. गौरव वल्लभ भी टीवी डिबेट में अपनी तकरीरों और हमलावर अंदाज़ की वजह से सुर्खियां बटोरते आए हैं. हाल ही उन्होंने एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में बहस के दौरान बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा से पूछ लिया था कि ट्रिलियन में कितने जीरो होते हैं? संबित पात्रा भी तुरंत ही उनके सवाल का जवाब नहीं दे सके थे और डिबेट के इस हिस्से का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. दरअसल गौरव वल्लभ ने केंद्र सरकार के 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनॉमी के दावों पर सवाल उठाया था.

गौरव वल्लभ की आर्थिक मामलों में खासी पकड़ है. वो जमशेदपुर के बिज़नेस मैनेजमेंट कॉलेज एक्सएलआरआई में प्रोफेसर रह चुके हैं और साल 2003 से 2017 तक यहां पढ़ा चुके हैं. इसके अलावा पिछले दो साल से वह चार्टर्ड अकाउंटेंट की संस्था आईसीएआई के डायरेक्टर भी रह चुके हैं जबकि साल 2003 में आरबीआई के थिंक-टैंक के तौर पर भी उन्होंने काम किया है.


गौरव वल्लभ ने क्रेडिट रिस्क मैनेजमेंट में डॉक्ट्रेट हासिल की है तो इसके अलावा वो एलएलबी, सीए और सीएस भी कर चुके हैं. उनके शानदार एकैडमिक करियर को देखते हुए उन्हें कांग्रेस में बड़ी भूमिका मिली है. वो साल 2017 में कांग्रेस में शामिल हुए और 2019 में उन्होंने कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता के तौर पर अपनी बात कहने का मौका मिला. लेकिन उनकी शानदार तर्कशक्ति, तीखे सवालों और हाज़िर जवाबी ने उन्हें कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ताओं में शीर्ष पर पहुंचा दिया. गौरव वल्लभ का जन्म दिल्ली में 1977 में हुआ. हालांकि गौरव वल्लभ राजस्थान में जोधपुर के पीपड़ गांव के रहने वाले हैं. पाली जिले से उन्होंने स्कूली शिक्षा पूरी की है. इसके बाद उन्होंने दिल्ली से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की.

गौरव वल्लभ टीवी के डिबेट मंच की तरह ही जमशेदपुर ईस्ट के स्थानीय मुद्दों पर मुख्यमंत्री रघुवर दास को घेरने की कोशिश करेंगे. गौरव वल्लभ ने इलाके के विकास कार्यों को लेकर रघुवर दास को खुली बहस की चुनौती भी दी है. वो विकास के मॉडल पर चुनाव मैदान में जनता के बीच उतरे हैं. गौरव के पास इस चुनाव में खोने के लिए कुछ नहीं है क्योंकि कांग्रेस ने एक बड़े प्रयोग के तौर पर उन्हें मैदान में उतारा है. लेकिन अगर गौरव चुनाव जीत गए तो वो झारखंड में कांग्रेस के सबसे बड़े चेहरे के तौर पर खुद को स्थापित करने में कामयाब जरूर हो जाएंगे. झारखंड की 81 सीटों वाली विधानसभा में 30 नवंबर से विधानसभा चुनाव शुरू हो रहे है. चुनाव पांच चरणों में होंगे और 23 दिसंबर को नतीजे आएंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 3:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...