कुश्ती की नई सनसनी चंचला का रांची पहुंचने पर शानदार स्वागत, कहा- हंगरी में जरूर जीतूंगी पदक

रांची रेलवे स्टेशन पर झारखंड कुश्ती संघ और जेएसएसपीएस के पदाधिकारियों ने चंचला का स्वागत किया.

चंचला के कोच बबलू कुमार ने बताया कि यह कुश्ती को लेकर बालिका वर्ग में झारखंड और देश के लिए ऐतिहासिक मौका है. उन्होंने कहा कि अब तक हरियाणा और पंजाब की लड़कियों का ही नाम कुश्ती में लिया जाता था लेकिन नौवीं की छात्रा चंचला ने इस मिथक को तोड़ दिया है.

  • Share this:
रांची. कुश्ती की नई सनसनी झारखंड की चंचला कुमारी का बुधवार को रांची पहुंचने पर कई जगहों पर भव्य स्वागत किया गया. आज सुबह गरीब रथ 11 बजे जैसे ही रांची रेलवे स्टेशन पर पहुंची, उन्हें बधाई और शुभकामना देने वालों का स्टेशन पर ही तांता लग गया. आपको बता दें कि रांची के ओरमांझी की रहने वाली चंचला कुमारी ने दिल्ली में हुए ट्रायल में जीत हासिल कर सब जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में अपना स्थान बनाया है. अब वह 19 से 25 जुलाई को हंगरी के बुडापेस्ट में होने वाले चैंपियनशिप में देश का प्रतिनिधित्व करेगी. इस चैंपियनशिप में अंडर-17 वर्ग के 40 किलोग्राम वर्ग में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली चंचला एकमात्र कुश्ती खिलाड़ी हैं.

रांची रेलवे स्टेशन पर झारखंड कुश्ती संघ और जेएसएसपीएस के पदाधिकारियों ने गुलदस्ते देकर चंचला को स्वागत किया. रांची रेलवे स्टेशन पर न्यूज़ 18 से बातचीत करते हुए चंचला ने बताया कि वह जीतोड़ मेहनत कर हंगरी में पदक जरूर जीतेगी. उन्होंने कहा कि धोबी पछाड़ और लेग पुल उनका सबसे मजबूत दांव है जिसकी बदौलत वह विरोधियों को रिंग में आसानी से पछाड़ देती है.

चंचला के कोच बबलू कुमार ने बताया कि यह कुश्ती को लेकर बालिका वर्ग में झारखंड और देश के लिए ऐतिहासिक मौका है. उन्होंने कहा कि अब तक हरियाणा और पंजाब की लड़कियों का ही नाम कुश्ती में लिया जाता था लेकिन नौवीं की छात्रा चंचला ने इस मिथक को तोड़ दिया है. कोच ने बताया कि चंचला में असीम संभावना है और उसकी क्षमता ऐसी है हंगरी में अंडर-17 में उसे कोई भी नहीं रोक सकता.

उसके बाद चंचला को झारखंड कुश्ती संघ कार्यालय ले जाया गया, जहां एसोसिएशन के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह ने चंचला का स्वागत किया और कहा कि झारखंड की यह छोटी सी बेटी हंगरी से पदक लेकर जरूर लौटेगी. भोलानाथ सिंह ने यह भी बताया उन्होंने खुद ही सबसे पहले चंचला को कुश्ती की शिक्षा दी है.

इसके बाद खेलगांव पहुंचने पर जेएसएसपीएस के सीईओ तमाम पदाधिकारी और कुश्ती के कोचेज ने चंचला का शानदार स्वागत किया. जेएसएसपीएस के सीईओ उमेश कुमार विद्यार्थी ने बताया कि चंचला को ध्यान में रखते हुए गुरुवार से खेल गांव में विशेष प्रशिक्षण कैंप शुरू किया जा रहा है जहां चंचला को कुश्ती की हर तकनीक से ट्रेंड किया जाएगा. साथ ही उसके खान-पान को भी और ज्यादा दुरुस्त किया जाएगा..

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.