Home /News /jharkhand /

रांची में अपराधों पर अंकुश की कवायद, 170 स्‍थानों पर लगे CCTV कैमरे

रांची में अपराधों पर अंकुश की कवायद, 170 स्‍थानों पर लगे CCTV कैमरे

अपराधियों पर लगाम लगाने की कवायत में सरकार, CCTV कैमरे से लैस हुआ शहर

अपराधियों पर लगाम लगाने की कवायत में सरकार, CCTV कैमरे से लैस हुआ शहर

झारखंड की राजधानी रांची के निवासियों को सुरक्षित माहौल मुहैया कराने के लिए 51 करोड़ की लागत से 170 महत्वपूर्ण स्‍थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.

    झारखंड सरकार ने पुलिस के हाथ मजबूत करने और शहरवासियों को सुरक्षित माहौल मुहैया कराने के लिए राजधानी रांची में 51 करोड़ की लागत से महत्वपूर्ण चौक और चौराहों को सीसीटीवी कैमरों से लैस कराया है. शहर के 170 स्थानों पर हाई डेफिनेशन सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जबकि आने वाले दिनों में इसे और भी ज्यादा पुख्ता करने की योजना है.

    इन सीसीटीवी कैमरों की मदद से शहर की 24×7 मॉनिटरिंग की जाती है. सरकार की इस योजना से जहां पुलिस तकनीकी रूप से और भी मजबूत हुई है, वहीं शहरवासी भी सरकार की इस योजना की सराहना  करते नज़र आ रहे हैं. लोगों का कहना है कि सीसीटीवी की वजह से बेलगाम अपराध पर लगाम लगी है और लोग खुद को भी पहले से ज्यादा सुरक्षित महसूस कर रहे हैं. और तो और, सीसीटीवी कैमरों के कारण कई अपराधी वर्तमान समय मे सलाखों के पीछे हैं.

    शहर की कामकाजी युवतियां हो या महिलाएं या फिर छात्राएं, सभी सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के प्रति आभार जताती दिखींं. उनका साफ तौर पर कहना है कि छेड़खानी, स्नैचिंग जैसी वारदातों पर काफी हद तक लगाम लगी है. बता दें कि चावल व्यवसायी नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड में पुलिस को शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों के जरिए ही आरोपियों का सुराग लगा था और पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई थी.

    ( रांची से ओमप्रकाश की रिपोर्ट )

    यह भी पढ़ें-  अपराध पर अंकुश लगाने के लिए रांची पुलिस ले रही है तीसरी आंख का सहारा

    यह भी देखें-  VIDEO: सूचना मिलते ही पुलिस ने घर में घुसे सभी चोरों को दबोचा

    Tags: CCTV camera footage, Jharkhand news, Police, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर