इलाज के लिए भटक रहे मरीज को RIIMS ने बैरंग लौटाया, NEWS 18 ने उठाया मुद्दा तो किया भर्ती
Ranchi News in Hindi

इलाज के लिए भटक रहे मरीज को RIIMS ने बैरंग लौटाया, NEWS 18 ने उठाया मुद्दा तो किया भर्ती
इलाज के लिए भटकता शिव पूजन अपने परिजन के साथ.

रिम्स (RIMS) अस्पतात (Hospital) ने एक ऐसे मरीज को असप्ताल में भर्ती करने से मना कर दिया, जिसके इलाज का आदेश सूबे के स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) ने दिया था. न्यूज 18 ने जब खबर दिखाई तो अस्पताल प्रशासन ने बुलाकर मरीज को भर्ती किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 5:24 PM IST
  • Share this:
रांची. गढ़वा (Garhwa) का एक गरीब और लाचार युवक शिवपूजन ईपीसपेडिया नामक बीमारी से पीड़ित है, जिसके पास इलाज के लिए पैसे नहीं है. अपनी इसी परेशानी का हल ढूंढने के लिए शिव सूबे के स्वास्‍थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के पास पहुंचा. शिव की समस्या सुनने के बाद मंत्री ने तत्काल उसका इलाज करने का डीसी गढ़वा को आदेश दिया. वहीं प्रशासन ने शिव को एंबुलेंस उपलब्‍ध करवाई जिसमें उसे रिम्स ले जाया गया. लेकिन रिम्स में जो हुआ वो चौंकाने वाला था. शिव का इलाज करने की जगह चिकित्सकों ने उसे 6 महीने बाद आने की बात कह कर वहां से रवाना कर दिया. इसके बाद शिव पहले की ही तरह भटकने पर मजबर हो गया. बाद में शिव ने news18 से संपर्क कर अपनी परेशानी बताई. उसने बताया कि उसकी बीमारी पेशाब से संबंधित है और इसी के चलते वो रात को सो भी नहीं पाता है. उसे काफी दर्द का अहसास होता है और हर समय यह समस्या बनी रहती है. उसके कपड़े भी कई बार खराब हो जाते हैं. अब डॉक्टरों ने उसका इलाज करने की जगह उसे 6 महीने बाद आने को कहा है.

क्या है शिवपूजन की बीमारी, क्यों डॉक्टर ने बैरंग लौटाया
रिम्स के यूरोलॉजी विभाग के डॉ राणा प्रताप के अनुसार शिवपूजन को पेशाब के रास्ते की जन्मजात बीमारी ईपिसपेडिया है. यह इमरजेंसी का मामला नहीं है. शिवपूजन अब किशोर हो गया है और उम्र के साथ उसकी समस्या भी बढ़ती जा रही है. रिम्स के यूरोलॉजी विभाग के डॉक्टर के अनुसार उसकी बीमारी इमरजेंसी की नहीं है और कोरोना काल मे सिर्फ इमरजेंसी ऑपरेशन ही हो रहे हैं. इसलिए उसे 6 महीने बाद आने को कहा गया है.


रिम्स यूरोलॉजी विभाग की लापरवाही पर क्या कहते हैं अधीक्षक


रिम्स अधीक्षक डॉ. विवेक कश्यप के अनुसार ईपीसपेडिया नाम की बीमारी से जूझ रहे शिवपूजन  का इलाज कई चरणों मे होने वाले ऑपेरशन से होगा. रिम्स अधीक्षक के अनुसार शिवपूजन को भर्ती नहीं करने के यूरोलॉजी विभाग के निर्देश के कारणों की जांच होगी. वहीं उन्होंने इलाज शुरू करने का आदेश दे दिया है.

News18 को शिवपूजन ने धन्यवाद कहा
शिवपूजन को अस्पताल से भगाने के बाद खबर मीडिया में आई तो रिम्स अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लिया. वहीं आज यूरोलॉजी सुपर स्पेशलिटी में शिवपूजन को भर्ती कर इलाज शुरू हो गया है इसके लिए बीमार शिवपूजन और उसके भाई ने news18 को खबर दिखाने के लिए धन्यवाद कहा है. शिवपूजन को अब रिम्स के उसी यूरोलॉजी विभाग में भर्ती कर लिया गया है जहां के डॉक्टरों ने कल उसे 6 महीने बाद आने की सलाह दी थी. उम्मीद है कि अब कई चरणों में होने वाले ऑपेरशन के बाद शिवपूजन ठीक हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज