Home /News /jharkhand /

रांची में बिगड़ती कानून व्यवस्था का मुद्दा विधानसभा में भी गूंजा

रांची में बिगड़ती कानून व्यवस्था का मुद्दा विधानसभा में भी गूंजा

राजधानी रांची में लूट, हत्या और गोलीबारी के ताजा घटनाओं से झारखंड विधानसभा में चल रहा बजट सत्र गुरुवार के भी गरम रहा

राजधानी रांची में लूट, हत्या और गोलीबारी के ताजा घटनाओं से झारखंड विधानसभा में चल रहा बजट सत्र गुरुवार के भी गरम रहा

राजधानी रांची में लूट, हत्या और गोलीबारी के ताजा घटनाओं से झारखंड विधानसभा में चल रहा बजट सत्र गुरुवार के भी गरम रहा

    राजधानी रांची में लूट, हत्या और  गोलीबारी की ताजा घटनाओं से झारखंड विधानसभा में चल रहा बजट सत्र गुरुवार के भी गरम रहा. बिगड़ती विधि व्यवस्था पर कई सदस्यों ने गुरुवार को हंगामा मचाया और सरकार से इस बाबत जवाब मांगा.
    स्पीकर दिनशे उरांव ने मामले में नियमन दिया. एक माह में राजधानी में हुए अपराध की रिपोर्ट मांगी गई. आपको बता दें कि राजधानी में एक हफ्ते में दिन दहाड़े दो अलग-अलग जगहों पर हत्या, एक चाकूबाजी और लूट की दो बड़ी घटनाएं हुई हैं.
    इस मुद्दे पर गुरुवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने से पहले झारखंड मुक्ति मोर्चा के सदस्यों ने सदन के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन किया. इस बीच जेएमएम विधायक दीपक विरुआ ने 1948 के खरसावां गोलीकांड की न्यायिक जांच और शहीद हुए लोगों के परिजनों को मुआवजा, नौकरी देने की मांग को लेकर धरना दिया.
    इसके अलावा जेएमएम विधायकों ने कर्मचारी चयन आयोग द्वारा उपकारापाल पद के लिए निकाली गयी नियुक्ति परीक्षा विज्ञापन में जनजातीय भाषा को हटाने को लेकर भी प्रदर्शन किया. बाद में सदन के भीतर भी नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने इस मामले को उठाया. जिसपर सरकार ने सदन को नियुक्ति के विज्ञापन में संशोधन करने का भरोसा दिया.

    Tags: Hemant soren, झारखंड, रांची

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर