Home /News /jharkhand /

झारखंड: ऑपरेशन के बाद 12 लोगों की चली गई रोशनी, लेकिन अस्पताल को नहीं पता कौन थे वे डॉक्टर्स

झारखंड: ऑपरेशन के बाद 12 लोगों की चली गई रोशनी, लेकिन अस्पताल को नहीं पता कौन थे वे डॉक्टर्स

12 लोगों की आंख की रोशनी जाने के मामले में स्वास्थ्य विभाग ने जांच शुरू कर दी है.

12 लोगों की आंख की रोशनी जाने के मामले में स्वास्थ्य विभाग ने जांच शुरू कर दी है.

Sahebganj News: साहिबगंज में आंख की रोशनी जाने के मामले में स्वास्थ्य विभाग की जांच शुरू हो गई है. छह सदस्यीय जांच टीम ने बरहरवा स्थित झारखंड सेवा सदन‌ नर्सिंग होम में मैनेजर सुमन सिंह से 3 घंटे तक लंबी पूछताछ की. इस दौरान टीम ने ह्यूमन रिसोर्स, क्लीनिकल स्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत रजिस्ट्रेशन के कागजात, पेशेंट्स की बीएसटी की रिपोर्ट मांगी. साथ ही रोशनी खो चुके मरीजों की संख्या और उनके नाम, पता तथा मोबाइल की भी जानकारी मांगी.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- मिथिलेश कुमार सिंह

    साहिबगंज: झारखंड के साहेबगंज में ऑपरेशन के बाद आंखों को बेनूर कर दिए जाने के मामले में रविवार को जांच शुरू हो गयी. स्वास्थ्य विभाग की छह सदस्यीय जांच टीम जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डॉ थॉमस मुर्मू के नेतृत्व में बरहरवा स्थित झारखंड सेवा सदन‌ नर्सिंग होम एंड डायग्नोस्टिक सेंटर पहुंची, जहां टीम ने नर्सिंग होम के मैनेजर सुमन सिंह से 3 घंटे तक लंबी पूछताछ की. इस दौरान टीम ने ह्यूमन रिसोर्स, क्लीनिकल स्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत रजिस्ट्रेशन के कागजात, पेशेंटस की बीएसटी की अद्यतन रिपोर्ट मांगी. वहीं रोशनी खो चुके मरीजों की संख्या और उसका नाम, पता तथा मोबाइल नंबर भी मांगे.

    मामले के खुलासे के बाद स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के संज्ञान लेने पर डीसी रामनिवास यादव के निर्देशानुसार सिविल सर्जन ने उसी दिन रात में नर्सिंग होम का निरीक्षण किया. साथ ही शनिवार को जिला यक्ष्मा पदाधिकारी के नेतृत्व में 6 सदस्यीय जांच टीम का गठन कर टीम को 24 घन्टे में पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया था.

    राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम ने की जांच
    मामले के सामने आने के बाद रविवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम ने भी नर्सिंग होम पहुंच कर जांच की. टीम में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूनम भारती, जिला अध्यक्ष मनीषा हेंब्रम, जिला सदस्य प्रेम रजवार, अलाउद्दीन शेख, अनिता देवी शामिल थे.

    ये हैं पीड़ित

    बता दें कि झारखंड सेवा सदन‌ नर्सिंग होम में ऑपरेशन के बाद 12 लोगों की आंख की रोशनी चली गई. पीड़ितों में मुख्तार शेख, माजीरा बीबी, हसन शेख़, राजकुमार बागती, सेना शेख,रोबी रजक,सहदेव मंडल, बताशन बेवा, दिल्लू मियां की पत्नी गूलनार बीबी, देलरा बीबी, सुभद्रा बेवा,मरांग सोरेन,सुफल मरांडी, बादन हेंब्रम शामिल हैं.

    जांच टीम में शामिल डॉ. सरिता टुडू ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन आंख का ऑपरेशन करने वाले एक भी डाक्टर के साथ एग्रीमेंट करने का कागजात नहीं दिखा सका. और भी कई कागजात नहीं है. इसकी रिपोर्ट सीएस को की जाएगी.

    Tags: Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर