फिर गरमाया बांग्लादेशी घुसपैठियों का मुद्दा, बीजेपी ने तेज की NRC की मांग

राजमहल लोकसभा में मात खाई बीजेपी ने बांग्लादेशी घुसपैठियों का मु्द्दा उठाया है. पार्टी ने केन्द्र और राज्य सरकारों से एनआरसी की मांग को तेज करने की अपील की है.

Nishant Kumar | News18 Jharkhand
Updated: June 18, 2019, 2:28 PM IST
Nishant Kumar | News18 Jharkhand
Updated: June 18, 2019, 2:28 PM IST
लोकसभा चुनाव खत्म होने के साथ ही झारखंड में विधानसभा की चुनावी फिजा बनने लगी है. राजनीतिक दल चुनावी रणनीति के साथ प्रभावकारी मुद्दे उछलने लगे हैं. बांग्लादेशी घुसपैठियों के मुद्दे को सियासी दिग्गज अपने पक्ष में भुनाने में जुट गए हैं. राजमहल लोकसभा में मात खाई बीजेपी ने बांग्लादेशी घुसपैठियों का मु्द्दा उठाया है. पार्टी ने केन्द्र और राज्य सरकारों से एनआरसी की मांग को तेज करने की अपील की है. राजमहल विधानसभा में पश्चिम बंगाल से सटे सीमाई ईलाकों में बांग्लादेशी घुसपैठियों के आने की लगातार खबरें मिलती रही है.

NRC की मांग को लेकर बीजेपी की मंशा पर सवाल

राजमहल विधानसभा के उधवा और बडहरवा प्रखंड के सीमाई इलाको में समुदाय विशेष के बीच बंगालादेशी घुसपैठियों को शरण देकर उन्हें बसाने की बातें आती रही हैं. बीजेपी वोट बैंको को चुनौती देकर घुसपैठियों की बढ़ रही आबादी से बीजेपी चितिंत है. वहीं विपक्षी दलों ने NRC की मांग को लेकर बीजेपी की मंशा पर सवाल उठाएं हैं. कांग्रेस, जेएमएम और बिहार में बीजेपी की सहयोगी जेडीयू ने एनआरसी की मांग को राजनीति से प्ररित बताया है.

 घुसपैठियों का मसला साहेबगंज और पाकुड़ के सीमावर्ती इलाकों से जुड़ा है

बीजेपी जब-जब बंग्लादेशी घुसपैठियों को बाहर निकालने की बात करती है तो इसके खिलाफ विपक्ष के तर्क भी तैयार हो जाते हैं. घुसपैठियों का मसला साहेबगंज और पाकुड़ के सीमावर्ती इलाकों से विशेष रूप से जुड़ा है. हाल के चुनाव में बीजेपी की हार कई कारणों में इसे भी एक प्रमुख कारण माना जाता है. इससे बीजेपी सतर्क है.

ये भी पढ़ें - कांग्रेस ने मुसलमानों को वोट बैंक बनाया पर नागरिक नहीं समझा- सीएम रघुवर

ये भी पढ़ें - हेमलाल की नामांकन सभा में सीएम का हमला, संताल को बनाना है जेएमएम मुक्त
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...