• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • नगर परिषद के भवन में धड़ल्ले से कराई जा रही बाल मजदूरी

नगर परिषद के भवन में धड़ल्ले से कराई जा रही बाल मजदूरी

नगर परिषद के भवन में धड़ल्ले से कराई जा रही बाल मजदूरी

नगर परिषद के भवन में धड़ल्ले से कराई जा रही बाल मजदूरी

साहेबगंज नगर परिषद भवन में नगर अध्यक्ष की मनाही के बाद भी भवन में छोटे छोटे नाबालिग बच्चों से धड़ल्ले से काम कराया जा रहा है.

  • Share this:
झारखंड के साहेबगंज जिले में नगर परिषद के भवन में संवेदक द्वारा धड़ल्ले से बाल मजदूरी का काम कराया जा रहा है. नगर परिषद भवन में नगर अध्यक्ष के मनाही के बाद भी भवन में छोटे छोटे नाबालिग बच्चे काम कर रहे हैं. नगर परिषद भवन में ही ऐसी हरकत पर परिषद प्रशासन लापरवाह बना हुआ है. नियमों की दुहाई देने वाले ही नियमों को ताक पर रखकर काम कर रहे हैं. नगर अध्यक्ष भी हक्का बक्का है.

नगर परिषद के नए निजाम से बेहतरी की काफी उम्मीदें तो थी. भवन निर्माण का काम तो शुरू हुआ, लेकिन घटिया ईंट के प्रयोग ने गुणवत्ता पर सवाल खड़ा कर दिया. नगर परिषद अध्यक्ष के संज्ञान में रहने के बाद भी घटिया सामग्री से भवन निर्माण पर सवाल खड़ा लाजमी है. इतना ही नहीं भवन निर्माण में शहर के नाक पर बसे नगर परिषद भवन में बच्चों से काम लिया जाना कम शर्मनाक नहीं है.

नियमों की दुहाई देने वाली संस्थाएं न तो गुणवत्ता का ख्याल रख पाई और ना ही कानून का संरक्षण. लिहाजा, विपक्षों का प्रहार भी स्वाभाविक हो जाता है. कम उम्र के बच्चों का काम करवाने पर परिषद प्रबंधन ने इस पर कहीं कोई ख्याल नहीं रखा. हालांकि नगर परिषद अध्यक्ष भी मानते हैं कि बाल श्रम जायज नहीं, लेकिन निर्माण कार्य में बाल श्रमिक के काम से साफ इंकार कर जाते हैं. वहीं नगर परिषद अध्यक्ष श्रीनिवास यादव विषय को टालने की कोशिश करते हुए बाल श्रम से इंकार कर दिया.

गौरातलब है कि बाल श्रम कानून अपराध है. अपराध कोई सरकारी संस्थाएं करे तो घोर लापरवाही है. नगर परिषद की यह लापरवाही सरकार के कानून को धत्ता बताती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज