साहेबगंज व आसपास बाढ़ का खतरा, पशु चारा का संकट

उपायुक्त ने पशुपालकों से दियारा से बाहर निकलने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि पशुओं के चारा की व्यवस्था प्रशासन करेगा.

Nishant Kumar | News18 Jharkhand
Updated: September 16, 2018, 2:41 PM IST
साहेबगंज व आसपास बाढ़ का खतरा, पशु चारा का संकट
साहेबगंज - बाढ़ जैसे हालात में पशुपालकों को पशुओं के चारा के लिए भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.
Nishant Kumar | News18 Jharkhand
Updated: September 16, 2018, 2:41 PM IST
गंगा का पानी तेजी से फैलने के कारण बाढ़ का खतरा दियारा समेत साहेबगंज के शहरी इलाकों में मंडराने लगा है. बाढ़ जैसे बन रहे हालात से दियारा इलाका के लोग घबराए हुए हैं. लेकिन सबसे अधिक परेशानी पशुओं के चारा को लेकर होने लगी है. चारा के लिए पशुपालक परेशान हो रहे हैं. लेकिन पशुपालन विभाग चारा उपल्बध करा पाने में लाचार है. बाढ़ की आशंका के मद्देनजर चारा के टेंडर में कोई रुचि नहीं ले रहा है.

दियारा में जनजीवन परेशान है. तेजी से फैल रहे गंगा के पानी से दियारा के कई गांवों में पानी फैल गया है. लिहाजा लोग अब पलायन की तैयारी में हैं. इस बीच पशुपालकों को पशुओं के चारा के लिए भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. चारो ओर पानी ही पानी है. चारागाहों में जगह-जगह पानी फैल चुका है. लिहाजा अब पशुपालक पशुपालन विभाग की तरफ देख रहे हैं. लेकिन पशुपालन विभाग खुद अपनी मजबूरियों में ही जकड़ा हुआ है.

विभाग के पास बाढ़ में चारा के टेंडर के लिए कोई आवेदन नहीं आ रहा है. पिछले साल भी संभावित बाढ़ को देखते हुए चारा के लिए अखबार के माध्यम टेंडर की प्रक्रिया शुरू कराई गई. लेकिन एक भी आवेदक का लिफाफा नहीं मिला. यानी टेंडर में किसी ने रुचि नहीं दिखाई. इस साल भी 22 सितम्बर टेंडर का अंतिम दिन है. लेकिन अबतक किसी भी आवेदक ने कोई कोटेशन नहीं दिया है. विभाग आवेदकों के इंतजार में है.

इधर उपायुक्त ने पशुपालकों से दियारा से बाहर निकलने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि पशुओं के चारा की व्यवस्था प्रशासन करेगा. उन्होंने कहा कि गंगा के फैलते पानी पर प्रशासन की नजर है. इससे पशुपालकों की परेशानी बढ़ रही है. उन्होंने कहा कि जो लोग ऊपर की ओर आना चाहते हैं प्रशासन उनके लिए उचित व्यवस्था करेगा. उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग पशुओं को ऊंचे स्थानों पर लाने की व्यवस्था करेगा और उन्हें चारा भी मुहैया करायेगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर